बिहार की परीक्षा की एक और तस्वीर वायरल, एेसी भी होती है परीक्षा?

0
605
DJH ÂÚUèÿææ ÖßÙ ×ð´ ç·¤ÌæÕ âð Ù·¤Ü ·¤ÚU ÂÚUèÿææ ÎðÌð ÂÚUèÿææÍèü

बिहार में एक बार फिर परीक्षा व्यवस्था का मजाक बना है। इसकी एक तस्वीर शुक्रवार को वायरल हुई है जो आरा जिले के आर के वीर कुंवर सिंह यूनिवर्सिटी से मान्यता प्राप्त वीर कुंवर सिंह कॉलेज की है। राज्य में बोर्ड परीक्षा में हुए फर्जीवाड़े का विवाद अभी ठीक से खत्म नहीं हुआ कि अब इस कॉलेज में बीए सेकंड ईयर के बच्चों की परीक्षा की तस्वीरें वायरल हो रही हैं। तस्वीरों में स्टूडेंट्स खुलेआम नकल करते दिख रहे हैं। हालांकि, यह पहली बार नहीं जब बिहार की शिक्षा व्यवस्था की यह बदतर हालत सामने आई है, लगभग दो साल पहले दसवीं बोर्ड की परीक्षा की एक तस्वीर दुनिया भर में वायरल हुई थी जिसमें स्कूल की दीवार और खिड़कियों पर चढ़कर लोग नकल करवा रहे थे। तस्वीर में देखा जा सकता है कि महाराजा कॉलेज और पैहारी जी महाराज कॉलेज के परीक्षार्थी इस कॉलेज के बरामदे पर बैठ कर भौतिकी की परीक्षा दे रहे हैं और उनके सामने किताबें, नोट्स और गेस पेपर्स रखे हैं। ये परीक्षार्थी आपस में बातचीत भी कर रहे थे। यूनिवर्सिटी के एग्जामिनेशन कंट्रोलर संजय कुमार त्रिपाठी ने बताया कि तस्वीरें सामने आने के बाद इस परीक्षा केंद्र पर होने वाली भौतिकी की परीक्षा को रद्द कर दिया गया है। यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर सैयद मुमताजुद्दीन ने कहा कि उन्होंने सेंटर के लिए जो निरीक्षक नियुक्त किये थे, उनसे रिपोर्ट मांगी है और नकल की वजह से 300 स्टूडेंट्स के एग्जाम कैंसल कर दिए गए हैं। अब 20 सितंबर को दोबारा भौतिकी की परीक्षा होगी। इस मामले में जब कॉलेज के प्रिंसिपल परमहंस तिवारी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि कॉलेज में 2300 छात्रों के बैठने की क्षमता है लेकिन यूनिवर्सिटी ने यहां 4400 स्टूडेंट्स की परीक्षा का अलॉटमेंट किया। प्रिंसिपल ने कहा कि कॉलेज को यूनिवर्सिटी से बहुत कम आर्थिक सहायता और समर्थन मिलता है। कॉलेज को अपने खर्चे पर डेस्क और बेंच खरीदने पड़े हैं। हालांकि, प्रिंसिपल ने नकल की बात से इनकार किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.