‘संस्कारी’ पहलाज निहलानी अब डिस्ट्रिब्यूट करेंगे बोल्ड और थ्रिलर ‘जूली 2’

0
23

‘संस्कारी’ पहलाज निहलानी सेंसर बोर्ड (सेंट्रल बोर्ड ऑफ फिल्म सर्टिफिकेशन) के चीफ का पद छोड़ने के बाद एक बार फिर बॉलिवुड में डिस्ट्रिबियूशन के क्षेत्र में लौट चुके हैं और शुरुआत कर रहे हैं एक बोल्ड थ्रिलर फिल्म ‘जूली 2’ से। फिल्ममेकर दीपक शिवदासानी की बोल्ड, ब्यूटिफुल और ब्लेस्ड ‘जूली’ को प्रजेंट करने जा रहे हैं, जिसमें लीड ऐक्ट्रेस के रूप में नज़र आएंगी राय लक्ष्मी। इस खबर को कन्फर्म करते हुए दीपक ने कहा, ‘मैंने साल 2012 में ही इस फिल्म की स्क्रिप्ट पर काम करना शुरू कर दिया था और इसके बाद अपना यह आइडिया मैंने पहलाज निहलानी के साथ डिस्कस किया। उन्हें स्क्रिप्ट पसंद आई। उन्होंने हाल ही में अपनी पत्नी के साथ फिल्म देखने के बाद मुझसे कहा, यह फिल्म अब मेरी है और अब मैं इसे प्रजेंट करूंगा।’ जब दीपक से पूछा गया कि क्या ‘संस्कारी’ पहलाज को फिल्म के बोल्ड सीन पर आपत्ति नहीं है? तो डायरेक्टर ने कहा, ‘इस फिल्म में एक खास मुद्दे को उठाया गया है और पहलाज जी को किसी सीन पर कोई आपत्ति नहीं है।

जब मिरर ने इस पहलाज ने सम्पर्क किया तो उन्होंने बताया कि वह पहले सेंसर चीफ की जिम्मेदारियों को लेकर व्यस्त थे, लेकिन अब ‘जूली 2’ के साथ डिस्ट्रिब्यूशन में उतरना चाहते हैं, जिसे दुनिया भर में रिलीज़ किया जाएगा। उन्होंने कहा, ‘मेरी आखिरी फिल्म श्रीदेवी की तमिल फिल्म पुली थी और फिर साल 2016 में आई इंडियन ड्रामा फिल्म सलाम मुंबई। फिल्म जूली 2 मेरी फैमिली को अच्छी लगी। यह एक बोल्ड थ्रिलर है, जो इस बारे में है कि कैसे टैलंटेड लोग इंडस्ट्री में आते हैं और फिर उन्हें कॉम्प्रोमाइज़ करने के लिए मजबूर किया जाता है। यह देश भर के सभी महत्वकांक्षी ऐक्टर्स के लिए अच्छा संदेश देती फिल्म है जो एक सफल ऐक्टर बनने का ख्वाब देखते हैं, लेकिन उन्हें सही लोग और सही प्लैटफॉर्म नहीं मिलते।’ अपनी बातों को जारी रखते हुए कहा कि उन्होंने हमेशा से ही सेंसर बोर्ड के गाइडलाइन के साथ काम किया है और इसलिए उनकी किसी भी फिल्म में कोई कट नहीं लगाया गया है। उन्होंने कहा कि इस फिल्म में कोई अश्लीलता, फूहड़पन और यहां तक की भद्दी भाषा तक का प्रयोग नहीं किया गया है। अपनी बातें दोहराते हुए उन्होंने कहा कि वह सभी प्रड्यूसर से इन गाइडलाइन के साथ चलते हुए फिल्म बनाने का आग्रह करते हैं। उन्होंने कहा, ‘यह एक हॉटसीट है जहां गाइडलाइन्स ही आखिरी नियम हैं और हमें उनका पालन करते वक्त सतर्कता बरतनी चाहिए।’

जब सेंसर बोर्ड के नए चीफ प्रसून जोशी के बारे में उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि नए अध्यक्ष काफी अच्छे इंसान हैं। उन्होंने कहा, ‘वह इंडस्ट्री से ही हैं, इसलिए वह जानते हैं कि किस चीज को कैसे हैंडल किया जाना है। लेकिन मैं कहूंगा कि कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या करते हैं, लोग और मीडिया आपको इसे अच्छी तरह से हैंडल करने ही नहीं देंगे। शुरुआत में आपको सब अच्छा दिखेगा, लेकिन बाद में मुश्किलें खड़ी होंगी।’

वह इस बात पर कायम रहे कि उन्होंने अपना काम पूरी ईमानदारी से निभाया है, लेकिन बोल्ड फिल्ममेकर मुझसे उम्मीद करते थे कि मैं बिना कट लगाए यूए सर्टिफिकेट के साथ फिल्म को रिलीज़ कर दूं। लेकिन मैं कट लगाता था क्योंकि मैं गाइडलाइन्स का पालन करता था।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here