20 सितंबर से फ्लिपकार्ट की बिग बिलियन सेल का आगाज

0
259

देश की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट 20 सितंबर से अपनी चौथी सालाना बिगबिलियन डेज (बीबीडी) सेल की शुरुआत करेगी। कंपनी को उम्मीद है कि पांच दिनों तक चलने वाली इस सेल में उसकी बिक्री पिछले साल के मुकाबले दो से तीन गुना तक बढ़ सकती है। पिछले साल त्योहारी मौसम में फ्लिपकार्ट की बिक्री में शानदार तेजी आई थी, जिसके दम पर उसने प्रतिस्पर्धी वैश्विक दिग्गज एमेजॉन को भी पीछे छोड़ दिया था। इस बार कंपनी की तिजोरी में करीब 4 अरब डॉलर है और कंपनी इससे देश के सुदूरवर्ती इलाकों में अपना विस्तार करने की संभावना तलाश रही है।

फ्लिपकार्ट की वरिष्ठï निदेशक स्मृति रविचंद्रन ने कहा, ‘हम हमेशा कहते रहे हैं कि बीबीडी भारत के लिए एक उत्सव की तरह है। छोटे और मझोले शहरों के ग्राहक भी ऑनलाइन आ रहे हैं और खरीदारी कर रहे हैं। इसमें दूरसंचार कंपनियों का भी अहम योगदान है। पिछले साल छोटे-मझोले शहरों के ग्राहकों में दो अंक में वृद्धि देखी गई थी लेकिन इस साल हम तीन अंक में वृद्धि की उम्मीद कर रहे हैं।’

हालांकि कंपनी का कहना है कि वह ज्यादा खर्च करने वाले शहरी ग्राहकों पर ध्यान केंद्रित करना जारी रखेगी और साथ ही डेबिट कार्ड पर ईएमआई, शून्य लागत-ईएमआई और उत्पादों की खरीदारी के बाद भुगतान के विकल्प जैसी सुविधाएं मुहैया कराएगी। इसके साथ ही छोटे शहरों के ग्राहकों के अनुकूल डील की भी पेशकश पर ध्यान दिया जाएगा।

रविचंद्रन ने कहा कि इस बार 2,000 रुपये की कम कीमत वाले मोबाइल फोन भी होंगे जबकि पिछले साल न्यूनतम 5,000 रुपये मूल्य के मोबाइल फोन की बिक्री की गई थी। अन्य उत्पादों के मामले में भी ऐसा ही देखा जा सकता है। कंपनी का कहना है कि महानगरों के बाहर के खरीदारों को वह उनके हिसाब से उपयुक्त उत्पाद मुहैया कराने का प्रयास करेगी। इस कदम का मकसद छोटे शहरों के ग्राहकों को अपनी ओर आकर्षित करना है।

फ्लिपकार्ट अपने प्लेटफॉर्म पर ग्राहकों की बड़ी खरीदारी को आसान बनाने के उपाय तलाश रही है लेकिन उसका कहना है कि प्रमुख सेल के अभिन्न हिस्से के तौर पर भारी छूट जारी रहेगी। इस साल दो चरणों के वित्तपोषण में करीब 3 अरब डॉलर की रकम जुटाने के बाद कंपनी की नजर बाजार हिस्सेदारी बनाए रखने से इतर व्यापक वृद्धि पर है।रविचंद्रन ने कहा, ‘हम लगातार ग्राहकों की समस्या को कम करने के उपाय तलाशते रहते हैं। हालांकि ग्राहकों के लिए अब भी कीमत सबसे अहम है। आप छूट को पूरी तरह नकार नहीं सकते लेकिन फ्लिपकार्ट पर ग्राहकों को खरीदारी के आकर्षक विकल्प मिलेंगे।’

भारत में 5 अरब डॉलर का निवेश करने की प्रतिबद्धता जताने वाली प्रतिस्पर्धी वैश्विक कंपनी एमेजॉन की भी एक बार फिर त्योहारी मौसम में बिक्री बढ़ाने पर नजर है। इसके जरिये एमेजॉन बाजार हिस्सेदारी में फ्लिपकार्ट से आगे निकलने का प्रयास कर सकती है। अमेरिकी कंपनी एमेजॉन पिछले एक साल से भारत में अपना निवेश बढ़ा रही है। कंपनी का दावा है कि इस निवेश की अधिकांश रकम बुनियादी ढांचे के विकास पर लगार्ई गई है।

विश्लेषकों का कहना है कि त्योहारी मौसम में ई-कॉमर्स कंपनियों के बीच कीमतों को लेकर जंग छिडऩा तय है। खासकर ऐसे समय में जब अलीबाबा और सॉफ्टबैंक समर्थित पेटीएम भी बाजार में बड़ा हिस्सा हासिल करने की कोशिश में जुटी है और ग्राहकों को लुभाने के लिए छूट का सहारा लिया जा रहा है। सभी कंपनियां अधिकतम बिक्री और अधिकतम सौदे हासिल करने के तरीके तलाशने में जुटी हुई हैं। पिछले साल दीवाली के दौरान ई-कॉमर्स कंपनियों की अनुमानित बिक्री 1.2 अरब डॉलर रही थी और इस साल फ्लिपकार्ट ने बिक्री में दो से तीन गुना वृद्धि का अनुमान लगाया है, ऐसे में भारत में ऑनलाइन शॉपिंग उद्योग नई ऊंचाई पर पहुंच सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here