शिंजो आबे ही नहीं, इन वर्ल्ड लीडर्स से भी है मोदी की अच्छी बॉन्डिंग

0
21

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे दो दिवसीय भारत दौरे पर आ रहे हैं. ये दौरा दोनों देशों के लिए बहुत ही खास है. जापान के पीएम भारत दौरे पर पहली बार नहीं आए हैं. इससे पहले भी वो भारत आ चुके हैं. जापानी पीएम शिंजो आबे और पीएम मोदी अच्छे दोस्त हैं. भारत के लिहाज से भी देखें तो इनकी दोस्ती खास है. सिर्फ शिंजो आबे ही नहीं, वर्ल्ड के और भी कई लीडर हैं जो मोदी के बेस्ट फ्रेंड्स हैं.

डोनाल्ड ट्रंप

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भी पीएम मोदी को फ्रेंड मानते हैं. उन्होंने पीएम मोदी को एक “सच्चा दोस्त” बताया था. साथ ही “महत्वपूर्ण रणनीतिक मुद्दों” पर चर्चा करने की इच्छा व्यक्त की थी. पीएम मोदी ने पहली अमेरिका की यात्रा के दौरान न केवल भारत-अमेरिका को रणनीतिक रूप से करीब लाए बल्कि हम भारत और अमेरिका की अंतर्राष्ट्रीय नीति में अच्छे संबंध भी देख सकते हैं.

बेंजामिन नेतन्याहू

इजराइल के पीएम बेंजामिन नेतन्याहू ने तेल अवीव में वार्षिक साइबर वीक सम्मेलन के 7 वें संस्करण में पीएम मोदी को अपना अच्छा दोस्त बताया था. वहां उन्होंने कहा था, ‘साइबर सुरक्षा अब एक गंभीर मुद्दा है और तेजी से बढ़ रहा है.’ वास्तव में आज दुनिया में सभी सरकार साइबर सुरक्षा में इज़राइल का सहयोग करने में रुचि रखते हैं. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने दोस्त को बुलाते हुए कहा भारत के मेरे दोस्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यात्रा के लिए आ रहे हैं. हम उनसे मिलने के लिए तत्पर हैं. जब मोदी इजराइल गए थे तो वहां नेतन्याहू के साथ समुद्र के किनारे गए थे. वहां नेतन्याहू ने मोदी को वॉटर प्लांट दिखाया था. दोनों की फोटोज खूब चर्चा में रही थीं.

व्लादिमीर पुतिन

पीएम मोदी ने हाल में जून 2017 में रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात की थी. उस समय पुतिन ने उनका स्वागत करते हुए कहा था “प्रधानमंत्री, दोस्त रूस में आपका स्वागत है. मुझे खुशी है कि हम इस शहर में मिल रहे हैं. उन्होंने कहा था कि जहां तक ​​मुझे पता है, आप इससे पहले सेंट पीटर्सबर्ग नहीं आए है. मुझे आशा है कि आपके पास शहर और उसके स्थलों का दौरा करने का समय होगा.”

टोनी एबॉट

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर प्रधानमंत्री मोदी को ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री टोनी एबॉट ने “मित्र” के रूप में भी संबोधित किया. उन्होंने कहा, “यदि हम अपने फर्स्ट नाम का इस्तेमाल कर सकते हैं, तो यह अच्छा होगा. उन्होंने कहा था कि हमारे बीच जो भी असहमति हो सकती है ऐसा करने से वो कम हो सकती है. यह कम से कम व्यक्तिगत रिश्तों में गरमाहट बनाए रखने में मदद करेगा है.

टेरेजा मे

ब्रिटेन की पीएम टेरेजा मे ने भी भारत को ब्रिटेन का “निकटतम मित्र” बुलाया. 2016 में भारत की अपनी द्विपक्षीय यात्रा से पहले, टेरेजा मे ने लिखा था, “हमारे सबसे महत्वपूर्ण और निकटतम मित्रों में से एक भारत होना चाहिए. भारत दुनिया में एक अग्रणी शक्ति है, जिसके साथ हम इतिहास, संस्कृति को साझा करते हैं. दूसरे शब्दों में, हम मजबूत संबंध, परिपक्व रिश्ते बनाने के लिए एक अवसर वाले दो देश है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here