पटना: गंगा नदी में दादा संग नहाने गए छह बच्चों की डूबने से मौत

0
53

पटना । मोकामा प्रखण्ड के मरांची गांव में आज सुबह गंगा स्नान के दौरान एक ही परिवार के 6 लोग डूब गए, जिसमें से चार शव निकाल लिये गये हैं और दो शवों की तलाश जारी है। मरांची थाना प्रभारी मुन्ना कुमार ने बताया कि लापता लोगों के लिए नदी में महाजाल डाला जा रहा है। स्थानीय स्तर पर गोताखोर भी लगाये गए हैं।

उन्होंने बताया कि अ्भी गंगा में बहुत तेज धार नहीं है इसलिए जल्द ही बाकी डेड बॉडी निकाल ली जायेगी। घटना में मरांची गांव के रहनेवाले पवन सिंह और उनके 5 पोते-पोती डूब गए हैं। पवन सिंह की उम्र 65 वर्ष थी। उनकी 4 पोतियां काजल (13), मृदुला (11), मौला कुमारी और निक्की (10) डूब गयीं। वहीँ पोता अनमोल शर्मा (12) भी डूब गया। घटना आज सुबह पांच बजे की है।

घटना की जानकारी मिलते ही मुख्यमंत्री ने पटना के जिलाधिकारी को फ़ोन कर आवश्यक निर्देश दिए हैं। जिला प्रशासन के अधिकारी घटनास्थल पर कैम्प कर रहे हैं। मृतकों के परिवार को राहत राशि दी जाएगी। आपदा प्रबंधन विभाग के नियमानुसार मृतक के परिजनों को 4 -4 लाख रुपए दिए जाएंगे।

मरांची गांव गंगा नदी के किनारे है और पवन का घर नदी से महज 200 मीटर की दूरी पर है, जहाँ घटना हुई है। पवन सिंह के दो बेटे हैं पंकज शर्मा और निरंजन शर्मा। पंकज किसान हैं और गांव में ही रहते हैं। उनकी तीन बेटी काजल, मृदुला और मौला थी जो डूब गयीं। उनके दो बेटे हैं प्राण किशोर और श्याम किशोर। दोनों की उम्र 5 और 6 साल की है। ये दोनों घर पर ही थे।

निरंजन इनकम टैक्स में ऑपरेटर हैं। बेगूसराय में पदस्थापित हैं। उनके 4 बच्चे हैं जिसमे आज निक्की और अनमोल की मौत हो गयी। अनमोल डी ए वी एचएफसी बरौनी में पढता था। सुबह सभी गंगा में नहाने गए थे। पहले मृदुला गहरे पानी में चली गयी। उसे बचाने बाबा पवन सिंह गए तो वो भी डूब गए। एक लड़की भाग कर घर गयी, तब तक कुल छह लोग डूब चुके थे। घटना के बाद पूरे गांव में गमगीन माहौल है। घर में चूल्हे नहीं जले हैं। सैकड़ों की भीड़ घाट पर जमा है।

महिलाओं की चीत्कार से लोगों का कलेजा फटा जा रहा है। स्थानीय गोताखोर लगाये गए हैं। महाजाल भी डाला जा रहा है। गांव के लोगों का कहना है कि जहां घटना हुई है वहां बड़े स्तर पर गहराई में मिट्टी काटी गयी थी। घाट के पास अधिक गहरा होने का पता नहीं चला और एक एक कर छह लोग डूब गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here