हनीप्रीत को पकड़ने के लिए राम रहीम के एक अन्य करीबी का पुलिस कर रही है इस्तेमाल

0
155

चंडीगढ़
डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम की मुंहबोली बेटी हनीप्रीत इंसां को पकड़ने के लिए हरियाणा पुलिस एक तरकीब पर अमल कर रही है। पुलिस राम रहीम के एक सहयोगी को हनीप्रीत के खिलाफ इस्तेमाल कर रही है, ताकि हनीप्रीत को पकड़ा जा सके। अब तक हरियाणा पुलिस नाकाम रही है। 25 अगस्त के बाद से उसकी कोई सूचना नहीं मिली है। भारत-नेपाल सीमा पर तलाशी और सख्ती के बाद भी हनीप्रीत का कोई सुराग नहीं मिला। ऐसी अफवाह थी कि उसका फोन राजस्थान के बाड़मेर में ट्रेस किया गया है लेकिन पुलिस ने अब तक इसकी पुष्टि नहीं की है।

‘मेल टुडे’ में छपी रिपोर्ट के मुताबिक डेरा सच्चा सौदा प्रबंधन समिति की चेयरपर्सन विपासना इंसां और हनीप्रीत इंसां एक दूसरे के विरोधी हैं। आम लोगों को भी उनके बीच दुश्मनी की बात अच्छे से पता है। ऐसे में पुलिस भी इस दुश्मनी का इस्तेमाल कर हनीप्रीत तक पहुंचना चाहती है। दरअसल, विपासना ने हनीप्रीत के इस दावे को मानने से इनकार कर दिया था कि वह डेरा की कानूनी उत्तराधिकारी है। इससे पहले हनीप्रीत ने सोशल मीडिया पर खुद को गुरमीत राम रहीम का कानूनी उत्तराधिकारी घोषित किया था। दूसरी तरफ विपासना ने दावा किया कि हनीप्रीत का डेरा में कोई स्टेक नहीं है। बता दें कि दो महिला साध्वियों से रेप के आरोप में राम रहीम को 20 साल की सजा सुनाई गई है।

सूत्रों का कहना है कि विपासना के अलावा राम रहीम के परिवार में उसकी पत्नी हरजीत, मां नसीब, बेटा जसमीत और बेटियां भी हनीप्रीत के खिलाफ हैं। विपासना नहीं चाहती कि डेरा के मामलों में हनीप्रीत का कोई दखल हो।

विपासना ने कहा, हनीप्रीत का डेरा मामलों से कोई लेना-देना नहीं है। डेरा पहले की तरह आगे भी काम करता रहेगा। परिवार में किसी भी सदस्य ने अभी खुद को कानूनी उत्तराधिकारी घोषित नहीं किया है। फरार चल रही हनीप्रीत के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी हुआ है पर अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं। सूत्रों का कहना है कि पुलिस ने डेरा प्रबंधन समिति के सभी 45 सदस्यों की सूची मांगी है जो गुरमीत राम रहीम के करीबी माने जाते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here