SC का ब्लू व्हेल गेम पर बैन की मांग संबंधी पिटीशन पर केंद्र को नोटिस

0
312

नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने ब्लू व्हेल गेम पर पूरी तरह बैन लगाने की मांग संबंधी पिटीशन पर केंद्र को नोटिस जारी किया है। इस पर तीन हफ्ते में जवाब मांगा है। बता दें कि रूस में बने ब्लू व्हेल गेम को बैन कर दिया गया है, लेकिन अब भी इसके कुछ लिंक निजी तौर पर लोगों के पास मौजूद हैं। दो महीने में गुजरात, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु और पुड्डूचेरी में इस गेम को खेलने वाले 10 लोग सुसाइड कर चुके हैं। रूस में बना ये गेम भारत समेत चीन, अमेरिका और कई देशों में गेम 130 से ज्यादा लोगों की जान ले चुका है। 73 साल के वकील ने लगाई पिटीशन…
– इस गेम पर पूरी तरह बैन लगाने की मांग संबधी पिटीशन मदुरै के 73 साल के वकील पोन्नियम ने लगाई है।
– पोन्नियम ने अपनी पिटीशन में कहा है कि ब्लू व्हेल गेम को लेकर अलग-अलग कोर्ट में चल रहे हैं, लेकिन अभी तक पूरे देश में इस पर रोक नहीं लग पाई है। लिहाजा, बच्चों के खुदकुशी करने के मामले बढ़ते जा रहे हैं।
अवेयरनेस लाने के लिए आदेश देने की भी मांग
-पोन्नियम ने अपनी पिटीशन में यह भी कहा है कि कोर्ट सभी राज्य सरकारों को आदेश दे कि वो लोगों के बीच इस खेल को लेकर अवेयरनेस फैलाएं।
– बता दें कि एक ऐसा ही मामला दिल्ली हाईकोर्ट में भी पेंडिंग है, जिसमें ब्लू व्हेल गेम पर रोक लगाने की मांग की गई है। यह पिटीशन गुरुमीत सिंह ने लगाई है।
– गुरुमीत की मांग है कि इंटरनेट की बड़ी कंपनियों को तत्काल ब्लू व्हेल चैलेंज से संबंधित कोई भी मटेरियल अपलोड करने से रोका जाए और इस गेम के ऑनलाइन लिंक को गूगल, फेसबुक और दूसरी वेबसाइट्स से हटाया जाए।
मद्रास HC ने कहा था- सरकार गेम पर बैन का तरीका खोजे
– 4 सितंबर को एक पिटीशन पर सुनवाई के दौरान मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै बेंच ने सरकार से कहा था कि वो इस गेम को बैन करने का तरीका खोजे।
– सुनवाई के दौरान सरकार ने हाईकोर्ट को बताया था कि मदुरै के जिस लड़के ने सुसाइड किया था, उसने 75 और लोगों को यह गेम फॉरवर्ड किया था। हालांकि, इन सभी को यह गेम खेलने से रोक दिया गया।
– हाईकोर्ट ने डीजीपी और होम सेक्रेटरी को सख्त ऑर्डर जारी करते हुए कहा कि वो इस गेम को शेयर करने वालों पर सख्त कार्रवाई करें। बता दें कि 19 साल के एक लड़के की मौत के बाद एक वकील ने हाईकोर्ट से इस मामले पर संज्ञान लेने की अपील की थी। इसके बाद कोर्ट ने सुओ मोटो (स्वत: संज्ञान) लेकर सुनवाई कर रहा है।
– बेंच ने इस मामले में यूनियन इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग सेक्रेटरी और होम सेक्रेटरी को नोटिस जारी किए। बेंच ने इस मामले मे कई डाइरेक्शंस भी जारी किए।
पुड्डूचेरी के शख्स ने किया था एक्सपीरियंस शेयर
– हाल ही में पुड्डूचेरी में ब्लू व्हेल गेम के जाल से बचकर निकले एक शख्स ने अपना एक्सपीरियंस शेयर किया था।
– उसने लोगों से अपील की थी कि इस गेम को कोई भी शख्स किसी हालत में इस गेम को न खेले।
– उसका कहना था कि ये मौत का वर्चुअल जाल है। इससे जुड़ना आपके लिए जिंदगी का सबसे खतरनाक एक्सपीरियंस साबित हो सकता है। जो लोग इससे एडवेंचर लेना चाहते हैं उन्हें भी दिमागी तौर पर खोखला कर देगा।
– इस गेम में 50 दिन का टास्क दिया जाता है और आखिर में सुसाइड जैसा कदम उठाना होता है।
37 नए मामले सामने आए
– ब्लू व्हेल गेम के जाल में फंसने के 37 नए मामले सामने आए हैं। असम के सिलचर में सेकंड ईयर के स्टूडेंट ने ब्लू व्हेल गेम खेलते हुए बिल्डिंग की छत से छलांग लगा ली। उसे हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है।
– वहीं, ब्लू व्हेल चैलेंज में फंसकर छत्तीसगढ़ में 36 बच्चों ने कलाई पर कट लगा लिए। गुरुवार को पुलिस ने बालोद के स्कूल में 6 स्टूडेंट्स को ब्लू व्हेल गेम खेलते हुए पकड़ा।
– दंतेवाड़ा के स्कूल प्रिंसिपल ने आला अफसरों को लिखे एक लेटर में बताया कि यहां 30 स्टूडेंट्स के कलाई पर कट के निशान मिले हैं। इन सभी के खतरनाक ऑनलाइन गेम खेलने का शक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here