आग की लपटों के बीच मां को देख कूदी 3 बेटियां, गंवाई जान

0
261

भोपाल : मध्‍यप्रदेश के दामोह में एक दर्दनाक हादसा सामने आया है. आग की लपटों के बीच मां को घिरा हुआ देखकर उसे बचाने के लिए तीन बेटियों ने अपनी जान दे दी. तीनों बेटियों की उम्र 7 साल, 5 साल और 2 साल थी. इस घटना के बारे में जिसने में सुना वह सन्‍न रह गया. घटना के बाद से गांव के लोग परेशान हैं और यहां पर मातम पसरा हुआ है. यह दिल दहला देने वाली खबर एमपी के दामोह में मौसीपुरा गांव की है. जानकारी के मुताबिक खबरों के मुताबिक शुक्रवार को तीन बच्चों की मां 30 वर्षीय रानी लोधी आत्महत्या करने के इरादे से आग लगा ली.

मां को आग की लपटों में घिरा देखकर तीनों मासूम बेटियां बचाने के लिए दौड़ी. अपनी जान की परवाह किए बगैर तीनों बेटियां मां को बचाने की कोशिश में आग की चपेट में आ गई. चीख पुकार की आवाज सुनकर आसपास के लोग मौके पर पहुंचे तो वहां कि स्थिति देखकर दंग रह गए. इस हादसे में तीनों बेटियां और उनकी मां बुरी तरह से झुलस गई. जिसके बाद लोगों ने चारों को नजदीक के अस्‍पताल में भर्ती कराया गया.

अस्पताल में उपचार के दौरान तीनों मासूमों ने ही दम तोड़ दिया. रानी लोधी ने आत्महत्या का कारण पूछने पर पुलिस को बताया कि वह अपनी बीमारी से बहुत परेशान है. इस कारण उसने अपनी जीवन लीला समाप्‍त करने की सोची. रानी ने बताया कि उसके पेट में बहुत तेज दर्द की शिकायत रहती है. काफी उपचार के बाद भी दर्द में कोई आराम नहीं मिला.
इसी से तंग आकर उसने आत्‍महत्‍या की कोशिश की. उसको आग की लपटों में जलते देख बेटियां मानसी, मुस्कान और तुलसा उसे बचाने आयी और जल गई. रानी आग के कारण 70 फीसदी जल चुकी है. उसका इलाज जबलपुर के सरकारी अस्पताल में चल रहा है. दामोह के एएसपी अरविंद दुबे ने बताया कि महिला ने पेट दर्द के कारण आत्महत्या की बात कही है, लेकिन ससुरालवालों से भी अक्सर झगड़े की बात भी सामने आ रही है. पुलिस मामले की छानबीन मे जुटी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here