सवाल के बदले पैसे लेने के मामले में पूर्व सांसद को पेश होने का आखिरी मौका

0
146

वकील ने कोर्ट को बताया था कि स्वास्थ्य ठीक न होने के चलते वह सुनवाई में पेश नहीं हो पाए हैं। सुनवाई के दौरान अन्य सभी आरोपी पूर्व सांसद मौजूद रहे।

नई दिल्ली, जेएनएन। संसद में सवाल पूछने के बदले पैसे लेने के मामले में पूर्व भाजपा सांसद के पेश नहीं होने पर तीस हजारी कोर्ट ने नाराजगी जताते हुए उन्हें पेश होने का आखिरी मौका दिया। विशेष न्यायाधीश पूनम चौधरी ने मंगलवार को सुनवाई के दौरान जलगांव (महाराष्ट्र) से पूर्व भाजपा सांसद वाईजी महाजन के वकील से कहा कि यह मामला ‘टाइम बाउंड’ है, इसलिए पेशी में बार-बार छूट नहीं दी जा सकती। लिहाजा 27 सितंबर को उन्हें पेश किया जाए, ताकि आरोप तय करने प्रक्रिया पूरी की जा सके।

वकील ने कोर्ट को बताया था कि स्वास्थ्य ठीक न होने के चलते वह सुनवाई में पेश नहीं हो पाए हैं। वहीं सुनवाई के दौरान अन्य सभी आरोपी पूर्व सांसद मौजूद रहे।

पेशी मामले में महाजन के अलावा दस पूर्व सांसद आरोपी हैं, जिनमें छत्रपाल सिंह लोढ़ा (भाजपा), अन्नासाहेब एमके पाटिल (भाजपा), मनोज कुमार (राजद), चंद्र प्रताप सिंह (भाजपा), राम सेवक सिंह (कांग्रेस), नरेंद्र कुमार कुशवाहा (बसपा), प्रदीप गांधी (भाजपा), सुरेश चंदेल (भाजपा), लाल चंद्र कोल (बसपा) तथा राजा रामपाल (बसपा) शामिल हैं। इनके अतिरिक्त कोर्ट ने एक अन्य व्यक्ति रवींद्र कुमार के खिलाफ भी आरोप तय करने के निर्देश दिए हैं। उल्लेखनीय है कि बाद में कांग्रेस ने अपने एक और भाजपा ने सभी छह सदस्यों को पार्टी से निष्कासित कर दिया था।

यह है मामला

दिसंबर 2005 में एक टीवी स्टिंग में ये तत्कालीन सांसद सदन में सवाल पूछने के एवज में घूस की मांग करते दिखे थे। इस मामले की जांच के लिए कमेटी गठित की गई थी, जिसकी रिपोर्ट के बाद इन सांसदों को 23 दिसंबर, 2005 को बर्खास्त कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here