अब NSA अजीत डोभाल पर भड़का पाकिस्तान, कहा-नहीं कामयाब होंगे इरादे

0
180

पाकिस्तान ने शुक्रवार को कहा कि भारत को क्षेत्रीय ताकत बनाने के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल की दोतरफा दबाव बनाने की आक्रामक रणनीति कभी कामयाब नहीं होगी। संयुक्त राष्ट्र महासभा में प्रतिक्रिया देने के अधिकार का इस्तेमाल करते हुए पाकिस्तान ने यह बात कही है। इससे पहले, भारत ने पाकिस्तान पर पलटवार करते हुए उसे ‘टेररिस्तान’ बताया है।पाकिस्तान ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भारत ने प्रधानमंत्री शाहिद अब्बासी के कश्मीर पर दिए गए बयान की निंदा की है, जो घाटी के उत्पीड़ित लोगों की भावनाओं और महत्वाकांक्षांओं को दर्शाता है। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के स्थाई मिशन में काउंसलर टीपू उस्मान ने कहा, ‘आक्रमक रक्षा और दोतरफा दबाव के इस्तेमाल की डोभाल की वह रणनीति कभी कामयाब नहीं हो सकती, जिससे भारत समझता है कि वह क्षेत्रीय ताकत बन जाएगा।’

पाकिस्तान ने कहा, ‘पाकिस्तान में गड़बड़ी और आतंकवाद फैलाते और जासूसी करते रंगे हाथों पकड़े गए कमांडर जाधव जैसे आतंक और अशांति के भारतीय संचालक भारत के सपनों को कभी पूरा नहीं कर सकते। यह सपना सिर्फ सपना ही रह जाएगा।’ पाक की ओर से जवाब देते हुए राजनयिक ने दावा किया कि भारतीय सुरक्षाबलों के हाथों कश्मीरी लोगों की ‘दुर्दशा’ को अंतरराष्ट्रीय समुदाय और मानवाधिकार संगठन देख रहे हैं। बता दें कि जाधव सेना के पूर्व अधिकारी हैं, जो ईरान में बिजनस करते थे। पाकिस्तान ने उन्हें अगवा करके देश में सैन्य अदालत में उनके खिलाफ केस चलाया और कई आतंकी हमलों का जिम्मेदार बता डाला।उन्होंने कहा कि कश्मीर की जनता अंतरराष्ट्रीय समुदाय विशेष तौर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों के उस वादे को पूरा करने का इंतजार कर रही है, जिसमें संयुक्त राष्ट्र के तत्वावधान में निष्पक्ष और स्वतंत्र जनमत संग्रह कराने की बात की गई थी। उन्होंने कहा, ‘मुझे दोबारा इस बात को दोहराना चाहिए और भारत की ओर से फैलाई जा सकने वाली किसी भी भ्रांति को खारिज करने दीजिए। भारत क्षेत्रीय शांति और स्थायित्व को कमजोर करने का जिम्मेदार है।’

पाकिस्तान ने आरोप लगाया कि जम्मू कश्मीर में नियंत्रण रेखा पर भारतीय सेना की ओर से बिना किसी उकसावे के गोलीबारी और मोर्टार के गोले दागने से पाकिस्तान की ओर कम से कम 10 नागरिक मारे गए हैं। इनमें अधिकतर महिलाएं हैं। पाकिस्तानी राजनयिक ने कहा, ‘गोलीबारी ज्यों की त्यों जारी रहती है जोकि भारत की जिद और अतिक्रमण की दुखद याद दिलाती है।’ बता दें कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री अब्बासी ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर मुद्दा उठाया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here