‘विराट टीम’ ने लिया कंगारुओं से ईडन में 14 साल पुराने हिसाब का बदला

0
33

कप्तान विराट कोहली (92) और अजिंक्य रहाणे (55) की शानदार बल्लेबाजी के बाद टीम इंडिया की नई स्पिन सनसनी कुलदीप यादव (3/54) की हैट्रिक और भुवनेश्वर कुमार (3/09) की घातक गेंदबाजी के बूते भारत ने गुरुवार को ईडन गार्डेंस स्टेडियम में वनडे सीरीज के दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया को 50 रन से हरा दिया। इस जीत ने साथ ही विराट के वीरों ने न सिर्फ सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है, बल्कि कंगारुओं से 14 साल पहले इसी मैदान में टीवीएस कप के फाइनल में मिली शिकस्त का बदला भी ले लिया।

253 रनों के आसान लग रहे लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 43.1 ओवरों में 202 रन पर सिमट गई। मार्कस स्टोइनिस (नाबाद 62) की साहसिक पारी काम नहीं आई। युजवेंद्र चहल और हार्दिक पांड्या ने भी दो-दो विकेट चटकाए। इससे पहले अच्छी शुरुआत के बाद भारतीय पारी बुरी तरह लड़खड़ा गई। एक समय 300 के आंकड़े को छूने की तरफ बढ़ रही मेजबान टीम 50 ओवर में 252 रनों पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज नाथन कूल्टर-नील और केन रिचर्डसन ने 3-3 विकेट झटके, लेकिन वे बेकार साबित हुए।ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। दोनों सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (01) और हिलटन कार्टराइट (01) फिर फ्लॉप साबित हुए। भुवनेश्वर ने दोनों को सस्ते में निपटा दिया। महज नौ रन पर दो विकेट गिर चुके थे। इसके बाद 100वां वनडे खेलने उतरे कप्तान स्टीव स्मिथ (59) ने ट्रेविस हेड (39) के साथ पारी को संभाला और तीसरे विकेट के लिए अहम 76 रन जोड़े। मजबूत हो रही इस साझेदारी को चहल ने हेड को पांडे के हाथों लपकवाकर तोड़ा। पिछले मैच में छोटी मगर विस्फोटक पारी खेलने वाले ग्लेन मैक्सवेल (14) कप्तान स्मिथ का साथ नहीं दे पाए। उन्हें युजवेंद्र की गेंद पर विकेटों के पीछे मुस्तैद धौनी ने स्टंप आउट किया। इसके बाद पांड्या ने स्मिथ को अपना शिकार बनाया।

33वें ओवर में मैच का रूख पूरी तरह बदल गया, जिसे कुलदीप डालने आए। कुलदीप ने ओवर की दूसरी गेंद पर मैथ्यू वेड की गिल्लियां उड़ाकर उन्हें चलता किया। अगली गेंद पर एस्टन एगर को बिना खाता खोले पवेलियन लौटाया और फिर उसकी अगली गेंद पर 22 साल के इस होनहार स्पिनर ने पैट कमिंस को भी शून्य पर धौनी के हाथों लपकवाकर अपनी हैट्रिक पूरी की। इस ओवर ने भारत की जीत पक्की कर बाकी के खेल को महज औपचारिकता बना दिया।
शतक लगाने में माहिर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ईडन में ‘नर्वस नाइंटीज’ के शिकार हो गए। विराट के 196 मैचों के अब तक के शानदार वनडे करियर में यह छठा मौका है, जब वह 90 पर पहुंचकर भी शतक तक नहीं पहुंच सके। उन्हें कूल्टर-नील ने बोल्ड कर वनडे करियर के 31वें शतक से वंचित किया। इसके साथ ही कोहली ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को पीछे छोड़ने से चूक गए, जिनके नाम 375 वनडे में 30 शतक दर्ज हैं।विराट की 107 गेंदों पर खेली गई पारी में आठ चौके शामिल रहे। विराट के अलावा न्यूजीलैंड के मार्टिन क्रोव, ऑस्ट्रेलिया के डीन जोंस व माइकल क्लार्क और वेस्टइंडीज के रिची रिचर्डसन वनडे में छह बार नर्वस नाइंटीज के शिकार हुए हैं। वनडे में सबसे ज्यादा 18 बार नर्वस नाइंटीज में रहने का रिकॉर्ड भी सबसे ज्यादा 49 शतक लगाने वाले सचिन तेंदुलकर के नाम दर्ज है।

कोहली-रहाणे का साथ

इससे पहले चेन्नई की तरह कोलकाता में भी मेजबान टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (07) चेपक के बाद अपने लकी ग्राउंड ईडन में भी नाकाम रहे। इसके बाद विराट ने रहाणे के साथ पारी को संभाला और टीम स्कोर को 100 के पार ले गए। इस दौरान कोहली ने वनडे का 45वां और रहाणे ने वनडे करियर का 20वां अ‌र्द्धशतक जड़ा। ओवर-दर-ओवर बड़ी हो रही यह साझेदारी दुर्भाग्यवश रहाणे के रनआउट होने से टूटी। रहाणे ने कोहली के साथ दूसरे विकेट के लिए 111 गेंदों पर 102 रन जोड़े। मनीष पांडे (03) फिर विफल रहे। केदार जाधव (24) ने आक्रामक रुख अपनाया लेकिन, ज्यादा देर टिक नहीं पाए। इसके बाद शतक के करीब बढ़ रहे कोहली भी आउट हो गए।
‘विराट टीम’ ने लिया कंगारुओं से ईडन में 14 साल पुराने हिसाब का बदला

‘विराट टीम’ ने लिया कंगारुओं से ईडन में 14 साल पुराने हिसाब का बदला’विराट टीम’ ने लिया कंगारुओं से ईडन में 14 साल पुराने हिसाब का बदला
कोहली ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को पीछे छोड़ने से चूक गए, जिनके नाम 375 वनडे में 30 शतक दर्ज हैं।

विशाल श्रेष्ठ, कोलकाता। कप्तान विराट कोहली (92) और अजिंक्य रहाणे (55) की शानदार बल्लेबाजी के बाद टीम इंडिया की नई स्पिन सनसनी कुलदीप यादव (3/54) की हैट्रिक और भुवनेश्वर कुमार (3/09) की घातक गेंदबाजी के बूते भारत ने गुरुवार को ईडन गार्डेंस स्टेडियम में वनडे सीरीज के दूसरे मैच में ऑस्ट्रेलिया को 50 रन से हरा दिया। इस जीत ने साथ ही विराट के वीरों ने न सिर्फ सीरीज में 2-0 की बढ़त बना ली है, बल्कि कंगारुओं से 14 साल पहले इसी मैदान में टीवीएस कप के फाइनल में मिली शिकस्त का बदला भी ले लिया।

253 रनों के आसान लग रहे लक्ष्य का पीछा करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम 43.1 ओवरों में 202 रन पर सिमट गई। मार्कस स्टोइनिस (नाबाद 62) की साहसिक पारी काम नहीं आई। युजवेंद्र चहल और हार्दिक पांड्या ने भी दो-दो विकेट चटकाए। इससे पहले अच्छी शुरुआत के बाद भारतीय पारी बुरी तरह लड़खड़ा गई। एक समय 300 के आंकड़े को छूने की तरफ बढ़ रही मेजबान टीम 50 ओवर में 252 रनों पर सिमट गई। ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज नाथन कूल्टर-नील और केन रिचर्डसन ने 3-3 विकेट झटके, लेकिन वे बेकार साबित हुए।

ऑस्ट्रेलिया की खराब शुरुआत

ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। दोनों सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर (01) और हिलटन कार्टराइट (01) फिर फ्लॉप साबित हुए। भुवनेश्वर ने दोनों को सस्ते में निपटा दिया। महज नौ रन पर दो विकेट गिर चुके थे। इसके बाद 100वां वनडे खेलने उतरे कप्तान स्टीव स्मिथ (59) ने ट्रेविस हेड (39) के साथ पारी को संभाला और तीसरे विकेट के लिए अहम 76 रन जोड़े। मजबूत हो रही इस साझेदारी को चहल ने हेड को पांडे के हाथों लपकवाकर तोड़ा। पिछले मैच में छोटी मगर विस्फोटक पारी खेलने वाले ग्लेन मैक्सवेल (14) कप्तान स्मिथ का साथ नहीं दे पाए। उन्हें युजवेंद्र की गेंद पर विकेटों के पीछे मुस्तैद धौनी ने स्टंप आउट किया। इसके बाद पांड्या ने स्मिथ को अपना शिकार बनाया।

कुलदीप ने बदला रुख

33वें ओवर में मैच का रूख पूरी तरह बदल गया, जिसे कुलदीप डालने आए। कुलदीप ने ओवर की दूसरी गेंद पर मैथ्यू वेड की गिल्लियां उड़ाकर उन्हें चलता किया। अगली गेंद पर एस्टन एगर को बिना खाता खोले पवेलियन लौटाया और फिर उसकी अगली गेंद पर 22 साल के इस होनहार स्पिनर ने पैट कमिंस को भी शून्य पर धौनी के हाथों लपकवाकर अपनी हैट्रिक पूरी की। इस ओवर ने भारत की जीत पक्की कर बाकी के खेल को महज औपचारिकता बना दिया।

शतक से चूके कोहली

शतक लगाने में माहिर टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ईडन में ‘नर्वस नाइंटीज’ के शिकार हो गए। विराट के 196 मैचों के अब तक के शानदार वनडे करियर में यह छठा मौका है, जब वह 90 पर पहुंचकर भी शतक तक नहीं पहुंच सके। उन्हें कूल्टर-नील ने बोल्ड कर वनडे करियर के 31वें शतक से वंचित किया। इसके साथ ही कोहली ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान रिकी पोंटिंग को पीछे छोड़ने से चूक गए, जिनके नाम 375 वनडे में 30 शतक दर्ज हैं।

विराट की 107 गेंदों पर खेली गई पारी में आठ चौके शामिल रहे। विराट के अलावा न्यूजीलैंड के मार्टिन क्रोव, ऑस्ट्रेलिया के डीन जोंस व माइकल क्लार्क और वेस्टइंडीज के रिची रिचर्डसन वनडे में छह बार नर्वस नाइंटीज के शिकार हुए हैं। वनडे में सबसे ज्यादा 18 बार नर्वस नाइंटीज में रहने का रिकॉर्ड भी सबसे ज्यादा 49 शतक लगाने वाले सचिन तेंदुलकर के नाम दर्ज है।

कोहली-रहाणे का साथ

इससे पहले चेन्नई की तरह कोलकाता में भी मेजबान टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (07) चेपक के बाद अपने लकी ग्राउंड ईडन में भी नाकाम रहे। इसके बाद विराट ने रहाणे के साथ पारी को संभाला और टीम स्कोर को 100 के पार ले गए। इस दौरान कोहली ने वनडे का 45वां और रहाणे ने वनडे करियर का 20वां अ‌र्द्धशतक जड़ा। ओवर-दर-ओवर बड़ी हो रही यह साझेदारी दुर्भाग्यवश रहाणे के रनआउट होने से टूटी। रहाणे ने कोहली के साथ दूसरे विकेट के लिए 111 गेंदों पर 102 रन जोड़े। मनीष पांडे (03) फिर विफल रहे। केदार जाधव (24) ने आक्रामक रुख अपनाया लेकिन, ज्यादा देर टिक नहीं पाए। इसके बाद शतक के करीब बढ़ रहे कोहली भी आउट हो गए।

55 रन पर पांच विकेट

कोहली के आउट होने के बाद विकेटों की झड़ी लग गई। अंतिम पांच विकेट महज 55 रनों पर गिर गए। चेन्नई वनडे के नायक महेंद्र सिंह धौनी (05) और हार्दिक पांड्या (20) का बल्ला इस बार नहीं गरज पाया। पिछले मैच में उपयोगी पारी खेलने वाले भुवनेश्वर (20) भी इस बार नाकाम रहे। कुलदीप तो खाता भी नही खोल पाए। विकेटकीपर वेड ने उनका शानदार कैच लपका। भारतीय बल्लेबाज अंतिम 10 ओवरों में सिर्फ 45 रन ही जोड़ पाए। पूरी भारतीय पारी के दौरान सिर्फ एक छक्का जाधव के बल्ले से लगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here