देखें, पद्मावती में अलाउद्दीन खिलजी बने रणवीर सिंह का First Look

0
204

2 अक्तूबर को रणवीर सिंह ने ट्वीट किया था, ‘कल सबुह आएंगे सुल्तान अलाउद्दीन खिलजी’. और 3 अक्तूबर के तड़के ही फिल्म पद्मावती में उनका अलाउद्दीन खिलजी लुक जारी भी कर दिया गया. ये पहली बार है जब रणवीर सिंह किसी फिल्म में नेगेटिव किरदार निभा रहे हैं. इस लुक के लिए खासतौर पर बढ़ाई गई रणवीर की दाढ़ी भी काफी समय से चर्चा में थी. ऐसे में उनका ये नया लुक देखने के लिए फैंस भी खासे बेताब थे.

कैरेक्टर के मुताबिक ही रणवीर इस लुक में बेहद खौफनाक नजर आ रहे हैं. उनकी सिर्फ दाढ़ी ही नहीं, बाल भी काफी बढ़े हुए हैं. चेहरे पर एक बड़ा सा चोट का निशान भी नजर आ रहा है. उनका ये लुक काफी एक्सप्रेसिव भी है. बताया जा रहा है कि इस लुक के साथ-साथ इस कैरेक्टर में ढलने के लिए रणवीर ने काफी मेहनत की. उन्होंने खुद को कई दिन तक अपने अपार्टमेंट में बंद रखा. सुनने में तो यहां तक आ रहा है कि खिलजी के नेगेटिव शेड में रणवीर ने खुद को इस कदर ढाल लिया कि उनका अपने दोस्तों से बात करने का तरीका भी इस कैरेक्टर जैसा ही हो गया. इसकी वजह से अब वह खिल्जी के प्रभाव से बाहर निकलने के लिए साइकेट्रिस्ट की मदद ले रहे हैं.बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती लगातार चर्चा में बनी हुई है. पहली नवरात्रि को फिल्म में दीपिका पादुकोण का पद्मावती लुक जारी किया गया था. इसे दर्शकों की काफी तारीफ मिली. इसके बाद सभी को बेसब्री से इंतजार था रणवीर सिंह के अलाउद्दीन खिलजी लुक और शाहिद कपूर को राजा रावल रतन सिंह के रूप में देखने का. 25 सितंबर की सुबह शाहिद कपूर का राजा रावल रत्न सिंह का लुक जारी किया गया और अब रणवीर सिंह का लुक भी सबके सामने आ गया है.फिल्म का पहला पोस्टर नवरात्रि के पहले दिन लॉन्च किया गया था. बताया जा रहा है कि दीपिका के इस लुक पर काफी मेहनत की गई है. ये जानकर आपको हैरानी हो सकती है कि ये लुक जितना आकषर्क है, दीपिका को तैयार होने में उतना ही कम समय लगता था. दीपिका रानी पद्मिनी के किरदार के लिए केवल आधे घंटे में तैयार हो जाती थी और साथ ही उन्हें कम से कम मेकअप दिया जाता था. इस लुक में दीपिका की यूनीब्रो को लेकर भी सोशल मीडिया में कई तरह के कमेंट्स आ रहे हैं. कोई कह रहा है कि दीपिका इसमें बेहद उदास नजर आ रही हैं, तो किसी का कहना है कि दीपिका ने इस लुक को लेकर काफी हिम्मत का काम किया है.बीते दिनों राजपूत करणी सेना ने फिल्म के पोस्टर जलाकर इसकी कहानी में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ न करने की धमकी दी थी. उनका कहना है कि उन्हें बिना दिखाए फिल्म रिलीज नहीं की जानी चाहिए. इससे पहले भी राजस्थान में शूटिंग के दौरान फिल्म की कहानी पर विवाद हुआ था. कुछ संगठनों का आरोप था कि पद्मावती के चरित्र के साथ छेड़छाड़ की जा रही है. कथित तौर पर अलाऊद्दीन के साथ रानी के प्रणय दृश्यों पर आपत्ति की गई थी. करनी सेना ने शूटिंग का विरोध किया और तोड़फोड़ की. रिपोर्ट्स के मुताबिक भंसाली के साथ मारपीट भी की गई. विरोध के बाद भंसाली ने पैकअप कर लिया था. तब लगा था कि फिल्म पूरी नहीं हो पाएगी, मगर फिर भंसाली ने नासिक में ही फिल्म का सेट बनवाकर शूटिंग पूरी की.अलाउद्दीन खिलजी और पद्मावती का प्रसंग सूफी कवि मल्लिक मुहम्मद जायसी ने शेर शाह सूरी के काल में 1540 में लिखा था. कहानियों के मुताबिक अलाउद्दीन रानी पर आसक्त था और उसने उन्हें हासिल करने के लिए चित्तौड़गढ़ पर हमला कर दिया था. हालांकि वह रानी के जीते जी ऐसा करने में कामयाब नहीं हुआ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here