राजद के रघुवंश का बड़ा बयान: संगठन चुनाव नाम का, सब पहले से तय रहता है

0
324

पटना। राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने पार्टी संगठन के चुनाव पर बड़ा बयान देते हुए पार्टी पर ही सवाल उठाए हैं। उन्होंने बड़ा आरोप लगाते हुए कहा है कि संगठन चुनाव केवल नाम का है, पार्टी में कौन किस पद पर रहेगा यह पहले से ही तय होता है।

जहां एक ओर राजद अध्यक्ष लालू यादव से सीबीआइ रेलवे टेंडर घोटाला मामले में पूछताछ कर रही है तो वहीं रघुवंश प्रसाद सिंह ने यह बड़ा बयान देकर सबको सकते में डाल दिया है। बता दें कि बुधवार को राबड़ी देवी ने अपने आवास 10सर्कुलर रोड पर पार्टी नेताओं और विधायकों, जिलाध्यक्षों की आपात बैठक बुलाई थी जिसमें यह निर्णय लिया गया कि पार्टी अध्यक्ष का चुनाव बीस नवंबर को होगा।

इसके साथ ही बैठक में लोकसभा चुनाव के लिए पार्टी की तैयारियों पर भी चर्चा की गई। संगठन चुनाव की रूपरेखा तय होने के बाद इसपर काफी विचार विमर्श किया गया। वहीं, आज का रघुवंश प्रसाद का पार्टी लाइन से बाहर जाकर दिये गए बयान से उनकी नाराजगी साफ झलकती है।

समय से पहले होगा राजद का संगठन चुनाव

राजद के वरिष्ठ नेता जगदानंद सिंह ने पत्रकारों को बताया कि राजद का संगठनात्मक चुनाव प्रत्येक तीन साल पर होता है। तय समय के मुताबिक इसे जनवरी 2019 में होना चाहिए था, लेकिन लोकसभा चुनाव को देखते हुए संगठन चुनाव पहले करा लिए जाएंगे।

उन्होंने कहा कि गांव से लेकर राष्ट्रीय स्तर पर संगठन को चुनाव के लिहाज से दुरुस्त करने के लिए राष्ट्रीय परिषद बैठक 20 नवंबर को आयोजित किया जाएगा। इसी दिन नए राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव भी होगा, जिसमें वर्तमान अध्यक्ष लालू प्रसाद की दोबारा ताजपोशी तय है। नए अध्यक्ष के चुनाव के बाद खुला अधिवेशन होगा।

संगठन चुनाव की जिम्मेवारी जगदानंद पर

राबड़ी देवी की अध्यक्षता में हुई बैठक में राजद के संगठन चुनाव के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व मंत्री जगदानंद सिंह को राष्ट्रीय निर्वाचन पदाधिकारी बनाया गया है। प्रदेश प्रवक्ता चितरंजन गगन को राष्ट्रीय सहायक निर्वाचन पदाधिकारी की जिम्मेवारी दी गई है। दोनों नेता इसके पहले के चुनाव में भी इसी भूमिका में थे। इसी तरह प्रदेश में चुनाव की जिम्मेवारी डॉ. तनवीर हसन की होगी।

निकाले जा रहे कई मायने

राजद प्रमुख लालू प्रसाद और तेजस्वी यादव की अनुपस्थिति में राबड़ी देवी द्वारा बुलाई गई आपात बैठक के सियासी हलकों में कई मायने निकाले जा रहे हैं। लालू और तेजस्वी फिलहाल दिल्ली में हैं। सीबीआई ने पांच एवं छह अक्टूबर को पूछताछ के लिए समन जारी कर रखा है। इसके पहले भी दो समन जारी किए जा चुके हैं, किंतु दोनों नेताओं ने पूछताछ की तिथियों को आगे बढ़ाने का अनुरोध कर रखा था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.