नौकर ने किया खुलासा: राबड़ी मेरी बहन, दान में दी थी 2.5 डिसमिल जमीन

0
38

आयकर विभाग ने लालू परिवार की जिन तीन संपत्ति को अस्थाई रूप से अटैच किया है उनमें फुलवारीशरीफ मौजा सगुना में राबड़ी देवी के नाम पर 2.5 डिसमिल जमीन भी शामिल है। यह जमीन विधान परिषद के चपरासी व लालू प्रसाद के घरेलू नौकर ललन चौधरी ने राबड़ी देवी को 2014 में दान में दी थी।
ललन चौधरी ने फुलवारीशरीफ के एक किसान विष्णुदेव से 30 लाख रुपए में यह जमीन खरीदी थी। आयकर विभाग ने ललन को पूछताछ के लिए बुलाया था। ललन ने अपने बयान में कहा है कि वह लालू प्रसाद के गोशाला में काम करता था। वह राबड़ी देवी को बहन मानता है।
आयकर सूत्रों के अनुसार ललन की इतनी आय नहीं है कि वह कीमती जमीन खरीद सके। आयकर अधिकारियों को आशंका है कि ललन चौधरी ने जो जमीन खरीदी है, उसके पैसे का भुगतान किसी और ने किया है।
दानापुर धन्नौत में ललन चौधरी ने ही 7.5 डिसमिल जमीन लालू प्रसाद की पुत्री हेमा को फरवरी 2014 को दान में दी है। यह जमीन भी ललन ने एक किसान से 62 लाख में खरीदी थी।
हृदयानंद चौधरी ने भी 7.5 डिसमिल जमीन हेमा को फरवरी 2014 में दान में दी थी। हृदयानंद एसटीएफ के जलवाहक ¨वग में कार्यरत है और लालू प्रसाद के गोशाला में काम करता था।
हृदयानंद ने यह जमीन एक किसान से 62 लाख में खरीदी थी। हृदयानंद भी आयकर रिटर्न फाइल नहीं करता है और उसकी आय इतनी नहीं है कि 62 लाख की जमीन खरीद सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here