राहुल ने पूछा- RSS शाखा में महिला को शॉर्ट्स में देखा है? भड़की BJP

0
352

कांग्रेस उपाध्यक्ष गुजरात में धुआंधार चुनावी रैली कर रहे हैं. आज वह वडोदरा में हैं, जहां से वह रैली करते हुए छोटा उदयपुर तक जाएंगे. गुजरात में अपनी पूरी ताकत झोंक रहे राहुल अपनी जनसभाओं में लगातार बीजेपी पर निशाना साध रहे हैं.

मंगलवार को बडोदरा रैली में राहुल ने बीजेपी के मातृ संगठन RSS में महिला भागीदारी को लेकर निशाना साधा है. राहुल ने न सिर्फ RSS में महिलाओं की हिस्सेदारी बल्कि RSS की आधिकारिक पोशाक (हाफ पैंट) को लेकर भी तीखी टिप्पणी की है.

राहुल ने जनसभा को दौरान कहा, “इनका (बीजेपी) संगठन RSS है. कितनी महिला हैं उसमें, कभी शाखा में महिलाओं को देखा है शॉर्ट्स में? मैंने तो नहीं देखा.”

राहुल यहीं नहीं रुके और उन्होंने बीजेपी और आरएसएस पर महिलाओं के प्रति गैर-बराबरी का दृष्टिकोण रखने का आरोप भी लगाया.

राहुल ने कहा, “इनकी (बीजेपी) थिंकिंग है, जब तक महिला चुप रहे, कुछ बोले ना, तब तक महिला ठीक है. जैसे ही महिला ने मुंह खोला, उसको चुप करवाओ.”

उल्लेखनीय है कि बीजेपी के मातृ संगठन आरएसएस में महिलाओं को सदस्यता नहीं दी जाती, बल्कि महिलाओं के लिए एक अलग संगठन बनाया गया है. आरएसएस अपने पितृसत्तात्मक और महिलाओं के प्रति रुढ़िवादी विचारों के लिए भी जाना जाता है. सिर्फ पुरुष सदस्यों वाले आरएसएस में पुरुषों के लिए पोशाक खाकी रंग का हाफ पैंट और शर्ट निर्धारित है. हालांकि कुछ ही समय पहले हाफ पैंट की जगह फुल पैंट पहनने की इजाजत भी दे दी गई है.

राहुल गांधी ने वडोदरा रैली में कहा कि अगर कांग्रेस गुजरात में सत्ता में आती है तो वह महिला सशक्तिकरण के लिए काम करेगी.

अपने शब्द वापस लें, माफी मांगें राहुल : आनंदीबेन

हालांकि इस बयान को लेकर राहुल की आलोचना भी हो रही है और बीजेपी ने भी तत्काल प्रतिक्रिया दी है. गुजरात की पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने इस बयान को लेकर राहुल गांधी से माफी मांगने के लिए कहा है.

आनंदीबेन ने कहा, “राहुल ने गुजरात की महिलाओं का अपमान किया है. आप अपने शब्द वापस लें और महिलाओं से माफी मांगें. अन्यथा पूरे गुजरात की महिलाएं इकट्ठी हो जाएंगी और गुजरात में आप अपनी रही-सही सीट भी खो देंगे. कांग्रेस माफी मांगे और राहुल अपने शब्द वापस लें.”

आनंदीबेन ने आगे कहा, “गुजरात की महिलाएं संस्कारी हैं, देश की सेवा का काम करती हैं. गरीबों की सेवा करती हैं और कई संस्थाएं चलाती हैं. इन्हीं संस्थाओं के माध्यम से गुजरात की महिलाएं अपना नेतृत्व खड़ा करती हैं.”

आरएसएस के दिल्ली प्रचार प्रमुख राजीव तुली ने भी राहुल के बयान पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस जितना जल्दी हो सके राहुल गांधी से छुटकारा पा ले, नहीं तो उन्हें सारी उम्र विपक्ष में रहना पड़ेगा.

राजीव तुली ने कहा,” राहुल गांधी कल यह भी कह सकते हैं कि बीसीसीआई में महिला क्यों नहीं हैं, उन्हें क्या यह पता है कि भारत की महिला क्रिकेट टीम भी है. राहुल गांधी के सलाहकारों को उन्हें ठीक से सलाह देनी चाहिए नहीं तो जो कांग्रेस अभी 400 सीटों से 44 सीटों पर आ गई है, वह कहीं साढ़े चार पर ना पहुंच जाए.”

उन्होंने आगे कहा, “राहुल गांधी को आरआरएस के बारे में पूरी जानकारी नहीं है. राष्ट्र सेविका समिति आरआरएस की महिला विंग है. राष्ट्र सेविका समिति की शाखा में महिला सदस्य अपनी यूनीफॉर्म में आती हैं.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.