नवजात की मौत पर अस्पताल में हंगामा

0
151

झज्जर के सामान्य अस्पताल में एक नवजात की मौत के मामले में गुस्साए परिजनों ने जमकर हंगामा किया। परिजनों के गुस्से का शिकार एसएमओ को भी होना पड़ा। परिजनों ने न सिर्फ ड्यूटी पर आए एसएमओ के साथ धक्का-मुक्की की बल्कि कार्यालय में घुसने के दौरान उनका रास्ता रोक लिया। एसएमओ को कार्यालय में घुसने ही नहीं दिया गया। बाद में जब एसएमओ के आश्वासन के बाद ही परिजन शांत हुए। जानकारी अनुसार, झज्जर के गांव डावला के रहने वाले योगेश ने अपनी पत्नी मनीषा को पिछले दिनों डिलिवरी के लिए झज्जर के नागरिक अस्पताल में भर्ती कराया था। मनीषा को 7 अक्टूबर के दिन बेटा पैदा हुआ, लेकिन जन्म के बाद नवजात को इंफेक्शन होने की बात कह कर डॉक्टरों ने उसे अस्पताल के ही एसएनसीयू में भर्ती करा दिया, लेकिन बाद में नवजात के परिजनों के इंकार करने पर भी नवजात को डिस्चार्ज कर दिया गया। योगेश की मानें तो घर पहुंचने के बाद उसके बेटे की तबीयत खराब हो गई, अस्पताल लेकर आए। लेकिन वहां मौजूद डॉक्टरों ने उन्हें एक दवाई की शीशी देकर वापस भेज दिया। वहां से निजी हॉस्पिटल पहुंचे तो उन्होंने रोहतक पीजीआई रेफर कर दिया। रोहतक ले जाते समय नवजात ने बीच रास्ते में दम तोड़ दिया। मृतक नवजात के परिजनों का कहना है चिकित्सक ने लापरवाही बरती जिसकी वजह से ऐसा हुआ। उधर, सीएमओ डॉ. रमेश धनखड़ का कहना है कि दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here