फ्री के चक्कर में कंपनी को हुआ 271 करोड़ रुपए का घाटा, फिर भी होगी मालामाल

0
36

नई दिल्ली। रिलायंस जियो ने अपने फ्री ऑफर से भारत के मोबाइल मार्केट को हिला दिया है। मगर, इसकी भारी कीमत कंपनी ने चुकाई है। फ्री में डेटा और कॉलिंग देने के कारण कंपनी को चालू वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में 271 करोड़ रुपए का नेट लॉस यानी घाटा हुआ है।

हालांकि, कंपनी ने 6,147 करोड़ रुपए का रेवेन्यू लाकर बाजार विश्लेषकों को चौंका दिया है। कंपनी को मौजूदा वित्त वर्ष की दूसरी तिमाही में यानी जुलाई से सितंबर के बीच 270.5 करोड़ रुपए का कुल घाटा हुआ है। जून तिमाही में ये घाटा 21.3 करोड़ रुपए था।

पिछले साल सितंबर में टेलीकॉम इंडस्ट्री में कारोबार शुरू करने के बाद यह पहली बार है, जब मुकेश अंबानी की स्वामित्व वाली कंपनी ने कमाई की घोषणा की है। रिलायंस इंडस्ट्रीज के ज्वाइंट सीएफओ वी श्रीकांत ने बताया कि वे इस बाजार में नए हैं और उम्मीद है कि वे नेट लेवल पर जल्द ही फायदे की स्थिति में आ जाएंगे।

कंपनी का कहना है कि उसे इंट्रेस्ट और टैक्स से पहले पॉजिटिव अर्निंग हुई है, जो कि भारी संख्या में यूजर्स के जुड़ने की वजह से हुई है। कंपनी को कस्टमर बेस के लिहाज से बड़ा फायदा हुआ है। इन तीन महीनों में जियो को 1.5 करोड़ नए कस्टमर्स मिले हैं और अब तक कंपनी के कुल यूजर्स की संख्या बढ़कर 13.86 करोड़ हो गई है।

इस तिमाही में जियो के 4G नेटवर्क पर 378 करोड़ GB डेटा का इस्तेमाल हुआ है, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। रिलायंस इंडस्टरीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने जियो के नतीजों पर कहा है कि जियो अगली पीढ़ी के कारोबार के लिए डेटा की नींव तैयार कर रही है। कंपनी का कहना है कि इन नतीजों के तहत रिलायंस जियो दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ने वाला डिजिटल सर्विसेस प्लेटफार्म बन गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here