टाटा टेलिसर्विसेज की इकाई शेयर्स से जुटाएगी 20,000 करोड़ रुपये

0
190

नई दिल्ली
टाटा टेलिसर्विसेज (महाराष्ट्र) ने कहा कि उसके बोर्ड ने प्रमोटरों को प्रेफरेंस शेयर जारी कर या डिबेंचरों के जरिए 20000 करोड़ रुपये तक की रकम जुटाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। इस रकम का उपयोग कर्ज चुकाने में किया जा सकता है। हालांकि कंपनी ने पैसा जुटाने का मकसद साफ नहीं किया। इससे पहले टाटा ग्रुप ने कहा था कि वह डेट फ्री, कैश फ्री बेसिस पर अपना कन्ज्यूमर मोबाइल बिजनस भारती एयरटेल को बेचेगा।

टाटा टेलिसर्विसेज (महाराष्ट्र) लिमिटेड यानी टीटीएमएल, टाटा टेलिसर्विसेज की सब्सिडियरी है। उसने अपने प्लान की जानकारी बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दी। इससे इसके शेयर में तेजी आई। बीएसई पर टीटीएमएल का शेयर बुधवार को 5 पर्सेंट चढ़कर 5.88 रुपये पर बंद हुआ।

ऐनालिस्ट्स ने कहा कि इस रकम का उपयोग टीटीएसएल और टीटीएमएल पर मौजूद लगभग 31000 करोड़ रुपये के कर्ज का कुछ हिस्सा चुकाने में किया जा सकता है। टीटीएमएल में टीटीएसएल के पास 36.5 पर्सेंट से ज्यादा हिस्सा है। टीटीएमएल केवल महाराष्ट्र और मुंबई सर्कल्स में सेवाएं देती है।

मुंबई के एक ऐनालिस्ट ने कहा, ‘हो सकता है कि टाटा ग्रुप अपने वायरलेस बिजनस को एयरटेल को बेचने के लिए मंजूरी मांगने से पहले कर्ज चुकाना चाहता हो क्योंकि वह नहीं चाहता होगा कि लेंडर्स कोई आपत्ति करें।’ उन्होंने कहा, ‘टाटा ग्रुप नहीं चाहेगा कि उसे रिलायंस कम्यूनिकेशन्ज सरीखी स्थिति का सामना करना पड़े, जिसकी एयरसेल के साथ विलय की डील पर लेंडर्स ने ऐतराज जताया था।’ आरकॉम-एयरसेल डील को अंतत: रद्द करना पड़ा था। कंपनी ने बीएसई को दिए नोटिस में कहा है कि टीटीएमएल का प्रस्ताव ‘या तो पोस्टल बैलट या एक्सट्राऑर्डिनरी जनरल मीटिंग के जरिए मेंबर्स से अप्रूवल मिलने पर निर्भर है।’

टेलिकॉम कंपनी ने कहा कि रकम जुटाने का काम एक या एक से ज्यादा इंस्ट्रूमेंट्स जारी कर किया जाएगा। इनमें प्रमोटरों को रीडीमेबल प्रेफरेंस शेयर, एक या एक से अधिक किस्तों में नॉन-कन्वर्टिबल डिबेंचर और/या इंटर कॉर्पोरेट डिपॉजिट/लोन या प्रमोटरों और अन्य से कमर्शल पेपर के जरिए पैसा जुटाने के कदम शामिल हो सकते हैं। टीटीएमएल में टाटा ग्रुप का स्टेक टीटीएसएल, टाटा संस, टाटा पावर कंपनी और पैनाटोन फिनवेस्ट के जरिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here