आज फिर होगी भारत और पाकिस्तान की जंग, सुपरहिट मुकाबले के लिए हो जाइए तैयार

0
177

लगातार शानदार प्रदर्शन के बाद आत्मविश्वास से भरी भारतीय टीम शनिवार को यहां दसवें पुरुष हॉकी एशिया कप टूर्नामेंट के सुपर-4 के तीसरे और अंतिम मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से भिड़ेगी, जिसमें उसकी निगाहें इस विजयी लय को बरकरार रखने पर लगी होंगी।

हालिया फॉर्म और दबदबे को देखते हुए टूर्नामेंट की शीर्ष रैंकिंग की भारतीय टीम 13वीं रैंकिंग पर काबिज पाकिस्तान के खिलाफ प्रबल दावेदार के रूप में शुरुआत करेगी। हाल के दिनों में भारत ने पाकिस्तान पर पूरी तरह दबदबा बनाया है और मनप्रीत सिंह की अगुआई वाली टीम इस पड़ोसी देश पर अपनी मजबूत पकड़ जारी रखना चाहेगी। दोनों टीमें इससे पहले टूर्नामेंट में पूल-ए के मुकाबले में आमन-सामने हुई थीं, जहां भारत ने पाकिस्तान को 3-1 से शिकस्त दी थी।

सुपर-4 के अपने पहले मैच में कोरिया के खिलाफ 1-1 के ड्रॉ को छोड़कर भारतीय टीम टूर्नामेंट में शानदार फॉर्म में रही है। उसके लिए खिलाड़ियों ने कुछ खूबसूरत मैदानी गोल किए और ‘वन-टच’ आक्रामक हॉकी का प्रदर्शन किया, जिसके लिए वह मशहूर है। कोरिया के खिलाफ मैच भारतीयों के सतर्क होने के लिए काफी था जो नए मुख्य कोच शोर्ड मारिन के मार्गदर्शन में पहला टूर्नामेंट खेल रही है। इस ड्रॉ ने उनके लिए उत्प्रेरक का काम भी किया, जिसने गुरुवार को सुपर-4 के अपने दूसरे मैच में मलेशिया के खिलाफ शानदार प्रदर्शन करते हुए 6-2 से जीत दर्ज की।

भारत सुपर-4 चरण में एक जीत और एक ड्रॉ से चार अंक लेकर तालिका में शीर्ष पर है, जिसके बाद मलेशिया (तीन अंक), कोरिया (दो अंक) और पाकिस्तान (एक अंक) मौजूद हैं। भारतीय टीम अब शनिवार को ड्रॉ भी हासिल कर लेती है तो वह रविवार को होने वाले फाइनल में अपना स्थान सुनिश्चित करने में सफल रहेगी, क्योंकि उसका गोल अंतर किसी अन्य टीम से कहीं बेहतर है।

वहीं, पाकिस्तान के लिए गंवाने के लिए कुछ नहीं है जो दुनिया को साबित करना चाहेगी कि उन्हें हल्के में नहीं लिया जाए। हालांकि, पाकिस्तान के लिए राह इतनी आसान नहीं है, क्योंकि फाइनल के लिए क्वालीफाई करने का मौका बरकरार रखने के लिए उन्हें भारत को बडे अंतर से हराने के अलावा अन्य सुपर-4 मैचों के नतीजों पर भी निर्भर रहना होगा।

पाकिस्तान को हल्के में नहीं ले सकते, क्योंकि वे भली-भांति जानते हैं कि मौजूदा फॉर्म के अलावा किसी भी भारत-पाक हॉकी मुकाबले का परिणाम इस बात पर निर्भर करता है कि टीमें मैदान पर दबाव और भावनाओं से कितनी अच्छी तरह निपटती हैं। भारत के लिए सबसे अहम चीज उसकी फॉरवर्ड लाइन रही है, जिसमें आकाशदीप सिंह, रमनदीप सिंह, एसवी सुनील, ललित उपाध्याय और युवा गुरजंट सिंह शानदार रहे हैं, जिन्होंने शानदार मैदानी गोल दागे हैं। वहीं, सुपर-4 के एक अन्य मैच में कोरिया का सामना मलेशिया से होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here