डेनमार्क ओपन चैंपियनशिप : 25 मिनट में ही श्रीकांत बने चैंपियन

0
16

भारतीय बैडमिंटन स्टार किदांबी श्रीकांत ने रविवार को यहां दक्षिण कोरिया के ली ह्यून इल को 25 मिनट में एकतरफा मुकाबले में 21-10, 21-5 से हराकर डेनमार्क ओपन चैंपियनशिप के पुरुष सिंगल्स वर्ग का खिताब जीता।

इस खिताबी मुकाबले को जीतने में श्रीकांत को ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी और कोरियाई खिलाड़ी ने आसानी से हार स्वीकार कर ली। श्रीकांत का यह तीसरा सुपर सीरीज प्रीमियर खिताब है।

इस साल इंडोनेशिया ओपन और ऑस्ट्रेलिया ओपन का खिताब जीतने वाले आठवें वरीय श्रीकांत ने अपने से 12 साल बड़े ली को 21-10, 21-5 से शिकस्त दी।

दुनिया के आठवें नंबर के खिलाड़ी श्रीकांत का यह तीसरा सुपर सीरीज प्रीमियर खिताब है। उन्होंने इससे पहले 2014 में चीन ओपन, जबकि इस साल इंडोनेशिया ओपन का खिताब जीता था।

श्रीकांत ने अपने से अधिक अनुभवी 37 साल के ली को कोई मौका नहीं दिया। ली ने शनिवार को सेमीफाइनल में हमवतन और दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी सोन वान हो को हराया था, लेकिन वह इस प्रदर्शन को नहीं दोहरा पाए। श्रीकांत ने धीमी शुरुआत की और पहले आठ अंक के बाद दोनों खिलाड़ी 4-4 से बराबर थे।

श्रीकांत ने इसके बाद अपने ताकतवर स्मैश की बदौलत 9-5 की बढ़त बनाई। भारतीय खिलाड़ी ब्रेक तक 11-6 से आगे था। ली के पास श्रीकांत के दमदार स्मैश और क्रॉस कोर्ट रिटर्न का कोई जवाब नहीं था, जिससे भारतीय खिलाड़ी ने 14-8 की बढ़त बनाई।

ली ने इसके अलावा बेसलाइन पर भी गलतियां कीं और उनके कई शॉट बाहर गए, जिससे श्रीकांत ने 17-8 की बढ़त बनाई। कोरियाई खिलाड़ी ने दो शॉट बाहर मारे, जिससे श्रीकांत को 20-8 के स्कोर पर 10 गेम प्वाइंट मिले।

श्रीकांत की गलती से ली को दो अंक मिले, लेकिन उन्हें इसके बाद शॉट बाहर मारकर गेम भारतीय खिलाड़ी की झोली में डाल दिया। दूसरे गेम में श्रीकांत ने बेहतरीन शुरुआत की और वह ब्रेक के समय 11-1 से आगे थे।

ली को अपने शॉट को लेकर जूझना पड़ा। उन्होंने कई शॉट बाहर मारे, जबकि कई शॉट नेट पर उलझाए, जिससे श्रीकांत को गेम और मैच जीतकर खिताब अपने नाम करने में कोई परेशानी नहीं हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here