पाटीदार नेताओं ने भाजपा को दिया दोहरा झटका

0
239

ओबीसी नेता अल्पेश ठाकोर की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात और उसके बाद कांग्रेस में शामिल होने के एलान के बाद भी भाजपा को लगने वाले झटके रुके नहीं हैं.

ठाकोर के बाद अगला हमला हुआ हाल में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल की तरफ़ से.

उन्होंने रविवार देर शाम एक संवाददाता सम्मेलन में आरोप लगाया कि भाजपा ने उन्हें पार्टी में शामिल होने के लिए एक करोड़ रुपए की पेशकश की थी.
पटेल ने दिखाया कैश

नरेंद्र पटेल ने पत्रकारों के सामने दस लाख रुपए कैश पेश करते हुए दावा किया कि ये रकम उन्हें एडवांस के तौर पर वरुण पटेल ने दी है.
वरूण पटेल भी पाटीदार आंदोलन से जुड़े रहे हैं और वो हाल ही में भाजपा में शामिल हुए हैं. हालांकि वरुण पटेल ने नरेंद्र पटेल के आरोपों को खारिज कर दिया है.

वहीं आम आदमी पार्टी ने भी अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट से नरेंद्र पटेल के भाजपा पर लगाए गए आरोपों को ट्वीट किया है.

अभी सोशल मीडिया पर पटेल के आरोपों पर प्रतिक्रिया का दौर शुरू ही हुआ था कि सोमवार सवेरे भाजपा पर एक और हमला किया गया.

हार्दिक पटेल के साथी रहे निखिल सवानी ने भाजपा से इस्तीफ़ा दे दिया और आरोप लगाया कि गुजरात में भाजपा सरकार ने पटेलों को आरक्षण देने के लिए कोई क़दम नहीं उठाया है.
निखिल ने क्यों छोड़ी भाजपा?

भाजपा छोड़ने के फ़ैसले की घोषणा करते हुए सवानी ने कहा, ”मैं भाजपा में इसलिए शामिल हुआ था क्योंकि वो कुछ अच्छा काम कर रही थी. लेकिन पाटीदारों के आरक्षण के लिए उनकी प्रतिबद्धता मज़बूत नहीं दिखती. उसका कहना है कि पाटीदारों को कोटा मिलना चाहिए. लेकिन ये लॉलीपॉप वो हमें कई साल से दे रहे हैं.

मैं इसलिए इस्तीफ़ा दे रहा हूं क्योंकि वो सिर्फ़ लॉलीपॉप दे रहे हैं और कोई वादा पूरा नहीं कर रहे…पाटीदार समुदाय भाजपा को माफ़ नहीं करेगा.” उनसे जब पूछा गया कि क्या उन्हें भाजपा में शामिल होने के लिए कोई रकम दी गई थी, तो उन्होंने कहा, ”नहीं, मुझे कोई पैसा ऑफ़र नहीं किया गया था.”

सवानी ने ये भी कहा कि वो हार्दिक पटेल के संगठन पाटीदार अनामत आंदोलन में जा रहे हैं. हालांकि, उन्होंने ये भी बताया कि वो कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाक़ात करेंगे.

हाल में भाजपा छोड़ने वाले नरेंद्र पटेल का ज़िक्र करने पर उन्होंने कहा, ”मैं नरेंद्र पटेल को बधाई देता हूं. वो छोटे परिवार से आते हैं, इसके बावजूद उन्होंने 1 करोड़ रुपए नहीं लिए. मुझे इस बारे में पता चला. मैं इस बात से अपसेट हूं. मैं आज भाजपा छोड़ रहा हूं.”

नरेंद्र पटेल के दावों की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं की जा सकी है. गुजरात कांग्रेस के प्रवक्ता और विधायक शक्तिसिंह गोहिल ने नरेंद्र पटेल के दावों से जुड़ी ख़बर को ट्वीट किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here