वसुंधरा के अध्यादेश पर राहुल ने साधा निशाना

0
250

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने विवादित अध्यादेश को लेकर राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर निशाना साधा है। गांधी ने ट्वीट कर कहा, ‘पूरी विनम्रता से मैं कहना चाहता हूं कि हम 21वीं सदी में हैं। यह 2017 है, 1817 नहीं। उन्होंने ट्वीट के साथ खबर भी टैग की है, जिसका शीर्षक है कि कानूनी विशेषज्ञों की राय में राजस्थान का अध्यादेश अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता के खिलाफ है।

गौरतलब है कि राजे सरकार ने एक अध्यादेश जारी किया है, जिसके तहत किसी जज या लोकसेवक के खिलाफ राज्य सरकार की मंजूरी के बिना जांच के आदेश देने और उसकी पहचान सार्वजनिक करने पर रोक लगा दी गई है। 7 सितम्बर को जारी अध्यादेश के अनुसार, सीआरपीसी की धारा 156 (3) के तहत अदालत शिकायत पर सीधे जांच का आदेश नहीं दे पाएगी। राज्य सरकार से अनुमति मिलने के बाद ही जांच के आदेश दे सकेगी। राज्य सरकार की मंजूरी नहीं मिलने तक जिसके खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाना है, उसकी तस्वीर, नाम, पता और परिवार की जानकारी सार्वजनिक नहीं की जा सकेगी। इसकी अनदेखी करने पर 2 साल की कैद और जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

पूर्व मंत्री शशि थरुर ने कहा है कि बीजेपी राहुल गांधी का मजाक बनाने में बहुत हद तक सफल रही है लेकिन यह तरीका अब कारगर नहीं रहा क्योंकि लोग कांग्रेस उपाध्यक्ष को प्रभावी प्रतिद्वंद्वी के तौर पर देख रहे हैं। उन्होंने कहा कि लोग नरेंद्र मोदी सरकार की कार्यप्रणाली को लेकर अपना संशय जाहिर कर रहे हैं और कांग्रेस को बीजेपी के उपयुक्त विकल्प के तौर पर देखना चाहते हैं। उन्होंने कहा, राहुल गांधी को लेकर लोगों की सोच बदल रही है, अगर यह जारी रहा तो चीजें कांग्रेस के पक्ष में जा सकती हैं। इस बात को लेकर कोई संदेह नहीं है कि लोग हमें अप्रैल या मई 2014 की तुलना में अधिक संभावना के साथ देख रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here