FIFA U17 WC : सेमीफाइनल के लिए ब्राजील और जर्मनी के बीच आज मुकाबला

0
17

देश का सबसे बड़ा फुटबॉल स्टेडियम विवेकानंद युवाभारती क्रीड़ांगन यूं तो बड़े-बड़े फुटबॉल मैचों की मेजबानी कर चुका है, लेकिन रविवार को यहां होने वाले मैच के कुछ और ही मायने हैं।

हो भी क्यों न, विश्व फुटबॉल की दो महाशक्तियां ब्राजील और जर्मनी फीफा अंडर-17 विश्वकप के क्वार्टर फाइनल में जोरआजमाइश करेंगी। यह मुकाबला भले दोनों देशों की सीनियर नहीं, बल्कि जूनियर टीमों के बीच होगा, लेकिन भविष्य के पेले, रोनाल्डिन्हो व नेमार और ओलिवर कॉन, माइकल बॉलक व थामस मुलर इन्हीं में से उभरेंगे।

टीमों की तुलना करें तो किसी को भी कमतर आंका नहीं जा सकता। दोनों टीमें ही बड़े टूर्नामेंटों के बड़े मैच खेलने की आदी हैं। कुछ मामलों में ब्राजील को आगे जरूर माना जा सकता है। मसलन, वह विश्व कप के इस संस्करण की तीन बार विजेता रही है, जबकि जर्मनी अब तक खिताब का खाता नहीं खोल पाई है। वह 1985 में इसके पहले संस्करण में उप विजेता रही थी।

अंडर-17 विश्व कप में ब्राजील के नाम कई कीर्तिमान दर्ज हैं। 2015 के संस्करण तक इस देश ने सर्वाधिक मैच (75) खेले, सबसे ज्यादा जीत (47) दर्ज की और सर्वाधिक गोल (166) दागे।

ब्राजील मौजूदा संस्करण में अब तक अजेय रहा है, जबकि जर्मनी को लीग राउंड में ईरान से 0-4 से करारी शिकस्त झेलनी पड़ी थी, लेकिन यूरोपीय टीम ने भी तुरंत संभलते हुए जोरदार वापसी की। जर्मनी के लिए प्रेरित करने वाली बात यह है कि 2011 के संस्करण में उसने ब्राजील को 4-3 के अंतर से हराया था।

आंकड़ों से इतर ब्राजील के पक्ष में एक अच्छी बात यह भी है कि उसे कोलकाता के दर्शकों को पूरा समर्थन मिलेगा। यहां ब्राजील और वहां के दिग्गज फुटबॉलर पेले के बड़ी तादाद में प्रशंसक हैं। दो साल पहले पेले अक्टूबर में ही दूसरी बार कोलकाता के दौरे पर भी आए थे।

आसान नहीं ब्राजील का गोलपोस्ट भेदना

ब्राजील के गोलपोस्ट को भेदना जर्मनी के लिए आसान नहीं होगा। ब्राजील के गोलरक्षक गैबरियल ब्राजाओ ने टूर्नामेंट में अब तक स्पेन के खिलाफ ही एक बार गोल खाया है। ब्रेनर और लिंकन टीम के अहम खिलाड़ी हैं।

दोनों अब तक 3-3 गोल दाग चुके हैं। मध्य पंक्ति के खिलाड़ी एलेन भी नई खोज बनकर उभरे हैं। दूसरी ओर जर्मनी की निगाह अपने स्टार खिलाड़ी जैन-फिट एर्प पर होगी, जिन्होंने पिछले चार मैचों में चार गोल किए हैं। येबोआ और यान बीसेक भी तुरूप का पत्ता साबित हो सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here