दिग्गज सरकारी कंपनियों में मिलेगा निवेश का मौका, जल्द लॉन्च होगा भारत-22 ETF

0
58

वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता वाली अंतरमंत्रलयी समिति ने एक्सचेंज ट्रेडेड फंड यानी ईटीएफ भारत-22 की लांचिंग को मंजूरी दे दी है। सूत्रों के अनुसार भारत-22 में सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम और बैंकों के शेयर शामिल होंगे।

सूत्रों ने बताया कि अगले महीने न्यू इंडिया एश्योरेंस का आइपीओ आने के बाद भारत-22 ईटीएफ को लांच किया जा सकता है। निवेश एवं सार्वजनिक परिसंपत्ति प्रबंधन विभाग (दीपम) को ईटीएफ के आकार और लांच की तारीख पर समिति से मंजूरी मिल गई। हालांकि इसके बारे में और जानकारी अभी नहीं दी गई है। इस समिति में पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान, शहरी विकास मंत्री हरदीप सिंह पुरी, रेलवे मंत्री पीयूष गोयल और ऊर्जा मंत्री आर. के. सिंह शामिल हैं।

भारत-22 ईटीएफ में ओएनजीसी, आइओसी, एसबीआइ, बीपीसीएल, कोल इंडिया और नाल्को जैसे सार्वजनिक उपक्रम और बैंकों के शेयर शामिल होंगे। आम निवेशक ईटीएफ में निवेश कर सकेंगे। यह पैसा इन उपक्रमों और बैंकों में ही निवेश किया जाएगा। उन्हें ईटीएफ की यूनिट आवंटित की जाएंगी और शेयरों की कीमतों के आधार पर यूनिटों की एनएवी यानी नेट एसेट वैल्यू तय होगी। ईटीएफ में एक्सिस बैंक, आइटीसी और एलएंडटी की रणनीतिक होल्डिंग भी शामिल होगी।

इन कंपनियों की सरकार के पास हिस्सेदारी एसयूयूटीआइ (स्पेसीफाइड अंडरटेकिंग ऑफ यूनिट ट्रस्ट ऑफ इंडिया) के जरिये है। भारत-22 ईटीएफ में सार्वजनिक क्षेत्र के सिर्फ तीन बैंक एसबीआइ, इंडियन बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा के शेयर शामिल होंगे। पहले सीपीएसआइ ईटीएफ में दस उपक्रमों ओएनजीसी, कोल इंडिया, आइओसी, गेल (इंडिया), ऑयल इंडिया, पीएफसी, भारत इलेक्ट्रॉनिक्स, आरईसी, इंजीनियर्स इंडिया और कंटेनर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here