रोहित शर्मा-शिखर धवन ने तोड़ डाला सहवाग-गौतम का 10 साल पुराना ये रिकॉर्ड, बना अनूठा संयोग

0
163

शिखर धवन और रोहित शर्मा की रिकार्ड साझेदारी से रखी गयी ठोस नींव को गेंदबाजों ने पूरी मजबूती दी जिससे भारत ने ‘नेहरामय’ बने फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में न्यूजीलैंड को पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में 53 रन से हराकर दिग्गज तेज गेंदबाज आशीष नेहरा को जीत के साथ शानदार विदाई दी। भारत की यह न्यूजीलैंड के खिलाफ खेल के सबसे छोटे प्रारूप में पहली जीत भी है। इससे पहले इन दोनों टीमों के बीच खेले गये सभी पांच मैच कीवी टीम ने जीते थे। भारत अब तीन मैचों की श्रृंखला में 1-0 से आगे हो गया है। अपने घरेलू मैदान पर खेल रहे धवन ने 52 गेंदों पर नौ चौकों और दो छक्कों की मदद से 80 रन बनाये जबकि रोहित ने 55 गेंदों पर 80 रन की पारी खेली जिसमें चार छक्के और छह चौके शामिल हैं। इन दोनों ने पहले विकेट के लिये 158 रन जोड़े जो भारत की तरफ से किसी भी विकेट के लिये सर्वश्रेष्ठ साझेदारी है। दोनों ने वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर का रिकॉर्ड तोड़ा जो उन्‍होंने 2007 वर्ल्‍ड कप में इंग्‍लैंड के खिलाफ डरबन में बनाया था। उस समय दोनों सलामी बल्‍लेबाजों के बीच 136 रनों की रिकॉर्ड साझेदारी हुई थी। टी20 क्रिकेट में ओपनिंग के लिए सबसे अच्‍छी साझेदारी का रिकॉर्ड न्‍यूजीलैंड के केन विलियमसन-मार्टिन गप्टिल के नाम पर है।

दोनों ने एक समान स्‍कोर (80 रन) बनाया। टी20 क्रिकेट में दोनों ओपनर्स के एक समान रन बनाने का यह सबसे बड़ा रिकॉर्ड है। इससे पहले 2010 में पाकिस्‍तानी ओपनर्स कामरान अकमल और सलमान बट ने 73-73 रन बनाए थे। धवन और रोहित ने भारत को जबर्दस्त शुरूआत दिलायी हालांकि भाग्य ने उनका पूरा साथ दिया। धवन जब आठ रन पर थे तब ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर मिशेल सैंटनर ने उनका आसान कैच टपकाया। इसके बाद रोहित को 17 रन के निजी योग जीवनदान मिला। तब दूसरे बदलाव के रूप में आये कोलिन डि ग्रैंडहोम की गेंद पर साउथी हाथ में आया कैच नहीं ले पाये थे।

इस बीच धवन ने अपने कट और ड्राइव से कुछ अच्छे शाट लगाये जबकि रोहित ने खाली स्थानों से गेंद बाहर निकाली। ऐसे ही एक अवसर पर उन्होंने अपर कट से साउथी की गेंद छह रन के लिये भेजी और फिर कोलिन मुनरो के सिर के ऊपर से गगनचुंबी छक्का लगाया। इससे वह टी20 मैचों में सर्वाधिक छक्के लगाने वाले भारतीय बल्लेबाज भी बने। रोहित ने सुरेश रैना (265 छक्के) का रिकार्ड तोड़ा।

जब ये दोनों अपनी पूरी लय में आ गये तो फिर कोटला में समां बंध गया। दर्शक उत्साह से लबरेज थे। धवन ने 37 गेंदों पर टी20 में अपना तीसरा अर्धशतक पूरा किया और फिर ईश सोढ़ी की गुगली को डीप मिडविकेट पर छह रन के लिये भेजकर टीम का स्कोर तिहरे अंक में पहुंचाया। धवन ने अगली गेंद पर चौका जड़कर टी20 अंतरराष्ट्रीय में अपना पिछला सर्वश्रेष्ठ स्कोर पीछे छोड़ा।

विलियमसन के पास इन दोनों का कोई जवाब नहीं था। उन्होंने साउथी को वापस गेंदबाजी के लिये बुलाया जिनकी शार्ट पिच गेंद पर धवन के पास पुल करके छक्का जड़ने का पर्याप्त मौका था। रोहित ने छक्के से अपना 12वां अर्धशतक पूरा किया और फिर सेंटनर की अगली दो गेंदों पर चौके जड़कर भारत की तरफ से सर्वश्रेष्ठ साझेदारी का पिछला रिकार्ड तोड़ा।

पहले यह रिकार्ड रोहित और विराट कोहली के नाम पर था जिन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2015 में धर्मशाला में दूसरे विकेट के लिये 138 रन जोड़े थे। यह साझेदारी आखिर में सोढ़ी ने तोड़ी जिनकी गुगली पर धवन चूक गये और स्टंप आउट होकर पवेलियन लौटे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here