5000 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग में कारोबारी अरेस्ट, गुजरात की फर्म से जुड़ा मामला

0
240

पांच हजार करोड़ रुपये के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली के कारोबारी गगन धवन को गिरफ्तार कर लिया है। मामला गुजरात की एक फार्मा कंपनी द्वारा फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बैंक से कर्ज लोन लेने का है। इसमें हजारों करोड़ रुपये के हवाला लेन-देन के सुबूत भी मिल रहे हैं।

गगन धवन को विशेष अदालत ने सात दिन के लिए ईडी की हिरासत में भेज दिया है। इस मामले में ईडी ने अगस्त में कांग्रेस के पूर्व विधायक सुमेश शौकीन के ठिकानों पर छापा मारा था।

प्रवर्तन निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वडोदरा की फार्मा कंपनी स्टर्लिग बायोटेक के खिलाफ मनीलांडिंग की जांच के दौरान पता चला कि कंपनी से मिलीभगत कर गगन धवन हजारों करोड़ रुपये दिल्ली लाता था और उसे दिल्ली और गुरुग्राम में रियल एस्टेट व अन्य स्रोतों में निवेश करता था।

गगन धवन के घर पर छापे के दौरान इस बात के पुख्ता सबूत मिले थे। इसी आधार पर उसे गिरफ्तार किया गया। कंपनी के खिलाफ सीबीआइ पहले से ही जांच कर रही है और कई आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है।

सीबीआइ का आरोप है कि कंपनी ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर आंध्र बैंक के नेतृत्व वाले कंर्सोटियम से 5 हजार करोड़ रुपये का कर्ज लिया था।

बाद में यह फंसे कर्ज (एनपीए) में बदल गया था। 31 दिसंबर 2016 तक कंपनी पर 5,383 करोड़ रुपये का कर्ज बकाया था। बाद में प्रवर्तन निदेशालय ने जांच शुरू की तो कई और चौंकाने वाले तथ्य सामने आए। ईडी धवन से पूछताछ कर रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here