IAS के ब्लैकमेलर्स रंगे हाथ पकड़े गए, 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

0
222

रष्टाचार के आरोपों के बाद एमएसआरडीसी के निदेशक पद से हटाकर छुट्टी पर भेजे गए आईएएस अधिकारी राधेश्याम मोपलवार को ब्लैकमेल कर 10 करोड़ रुपये मांगने वाले मांगले दंपती को 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया है। ठाणे पुलिस के हफ्ता वसूली निरोधी दस्ते ने सतीश मांगले और उसकी ऐक्ट्रेस पत्नी श्रद्धा मांगले को गुरुवार की शाम मोपलवार से हफ्ते की पहली किस्त के रूप में एक करोड़ रुपये लेते हुए डोंबिवली स्थित उनके घर से गिरफ्तार किया कर लिया। उनके पास से दो लैपटॉप, 5 मोबाइल फोन, 4 पेन ड्राइव, 15 सीडी और काफी दस्तावेज जब्त किए गए। दो अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।

ठाणे के पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह ने पत्रकारों को बताया कि राधेश्याम मोपलवार का उनकी पत्नी से तलाक का मामला अदालत में चल रहा है। उन्होंने पत्नी पर नजर रखने के लिए निजी जासूस सतीश मांगले की मदद ली थी। इससे सतीश और उसकी पत्नी श्रद्धा उनके करीबी हो गए थे। नजदीकी का फायदा उठाते हुए मांगले ने मोपलवार के भ्रष्टाचार की ऑडियो रिकॉर्डिंग कर ली थी। यह ऑडियो 1 अगस्त को कुछ समाचार चैनलों पर प्रसारित हुआ था। उसके बाद मोपलवार को एमएसआरडीसी से हटाकर छुट्टी पर भेज दिया गया था। वह अब भी छुट्टी पर हैं।

परमवीर सिंह के मुताबिक सतीश और श्रद्धा मांगले ने कई सरकारी कार्यालयों में मोपलवार के खिलाफ शिकायत की थी और वह मोपलवार को ब्लैकमेल करने लगे थे। उन्होंने भ्रष्टाचार के आरोप वापस लेने और ऑडियो रिकॉर्डिंग लौटाने के एवज में 10 करोड़ रुपये की मांग करके मामला 7 करोड़ रुपये में तय किया। यह रकम नहीं मिलने पर मोपलवार और उनकी बेटी तन्वी को जान से मारने की धमकी दी गई। इससे परेशान होकर मोपलवार ने ठाणे पुलिस से शिकायत की थी। ठाणे हफ्ता वसूली निरोधी दस्ते के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक प्रदीप शर्मा और निरीक्षक राजकुमार कोथमीरे की टीम ने एक करोड़ रुपए लेते हुए मांगले को रंगे हाथों पकड़ लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here