निजी क्षेत्र में भी आरक्षण होना चाहिए, राष्‍ट्रीय स्‍तर पर हो बहस : नीतीश कुमार

0
14

पटना । संघ प्रमुख मोहन भागवत के देश में आरक्षण को जरूरी कहे जाने के बाद अब बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्राइवेट सेक्‍टर में भी आरक्षण की वकालत की है। सोमवार को पटना में नीतीश कुमार ने कहा-मेरी राय है कि निजी क्षेत्र में भी आरक्षण होना चाहिए। इतना ही नहीं इस पर राष्ट्रीय स्तर पर बहस भी की जानी चाहिए। बिहार के मुख्यमंत्री के इस बयान ने एक बार फिर से निजी क्षेत्र में आरक्षण की मांग को उठा दिया है, जिसका कई लोग विरोध करते आ रहे हैं। हालांकि एक तबका काफी समय से इस मद्दे को उठाता आ रहा है।

बता दें कि नीतीश कुमार के बयान से पहले आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत ने जयपुर में एक सभा को संबोधित करते हुए आरक्षण का समर्थन किया है। भागवत ने कहा कि जाति के आधार पर आरक्षण तो होना चाहिए लेकिन जाति के नाम पर किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए। उन्होंने आजादी के इतने सालों के बाद भी जाति के नाम पर हो रहे भेदभाव को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। भागवत ने कहा कि भेदभाव को दूर करने के लिए संविधान में प्रवाधान है इसमें संशोधन कर इसे खत्म करना चाहिए। इसके बाद दोपहर में नीतीश कुमार ने निजी क्षेत्र में आरक्षण को लेकर बयान दे डाला। प्राइवेट सेक्‍टर में भी आरक्षण की वकालत करते हुए नीतीश कुमार ने कहा-मेरी राय है कि निजी क्षेत्र में भी आरक्षण होना चाहिए। इतना ही नहीं इस पर राष्ट्रीय स्तर पर बहस भी की जानी चाहिए

इसके साथ ही बिहार के मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में कहा कि जीएसटी का विरोध करने वाले लोग से पूछा जाना चाहिए कि यह कब प्रस्तावित था, पहले वैट पेश किया गया था और अब जीएसटी। परिवर्तन में समय लगता है। इसका विरोध करने का कोई मतलब नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here