उत्तर कोरिया के करीब पहुंच ट्रंप ने दी चेतावनी

0
14

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पांच एशियाई देशों के दौरे के दूसरे चरण में मंगलवार को दक्षिण कोरिया की दो दिवसीय यात्रा पर पहुंचे। उन्होंने उत्तर कोरिया को चेतावनी दी कि किसी भी तरह के हमले रोकने के लिए अमेरिका अपनी पूरी सैनिक ताकत का इस्तेमाल करने को तैयार है। साथ ही मेलमिलाप का रुख दिखाते हुए उत्तर कोरिया से परमाणु कार्यक्रम बंद करने के लिए समझौता करने की अपील भी की।

दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे-इन के साथ बातचीत के बाद ट्रंप ने कहा कि उम्मीद है, अमेरिका को पूरी सैन्य ताकत का इस्तेमाल न करना पड़े। वह उत्तर कोरिया के तानाशाह के खतरे से लाखों लोगों की जान बचाने के लिए जो भी जरूरी है, उसके लिए तैयार हैं। मून उत्तर कोरिया के साथ राजनयिक वार्ता के पक्षधर हैं। उनका मानना है कि युद्ध से दक्षिण कोरिया को काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। मून के साथ संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया सही कदम उठाए। उन्होंने कहा कि कुछ गतिविधि देखी है। अंतत: इसका हल निकलेगा, हमेशा हल निकला है और हल निकालना ही है।

हथियार खरीदेगा द. कोरिया

ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया से खतरे को देखते हुए दक्षिण कोरिया अमेरिका से अरबों डॉलर के हथियार खरीदेगा। इसमें विमान और मिसाइल भी शामिल होंगे। मून ने भी दक्षिण कोरिया की रक्षा क्षमताओं को बढ़ाने के लिए इसे जरूरी बताया। खबर है कि दक्षिण कोरिया अमेरिका से परमाणु पनडुब्बी खरीदने की बातचीत कर रहा है। ट्रंप ने कहा कि सियोल की बैलिस्टिक मिसाइल के वारहेड का वजन 500 किलोग्राम तक रखने की सीमा हटाने पर सहमति बन गई है।

सैनिकों के साथ लंच किया

सियोल के ओसान एयरबेस पर पहुंचने पर ट्रंप और उनकी पत्नी मेलेनिया ट्रंप का जोरदार स्वागत किया गया। इसके बाद वह हेलीकॉप्टर से कैंप हम्फ्रीज गए और अमेरिकी और दक्षिण कोरियाई सैनिकों से मिले। उन्होंने सैनिकों से साथ मेस हॉल में लंच किया। इस दौरान मून भी मौजूद थे। दक्षिण कोरिया के कैंप हम्फ्रीज में अमेरिका का सबसे बड़ा सैनिक अड्डा है। यह उत्तर कोरिया की सीमा से करीब 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here