कंडक्टर अशोक की पत्नी बोली- निर्दोष हैं वो, दबाव में कबूला था गुनाह

0
400

गुरुग्राम के रेयान इंटरनेशनल स्कूल के छात्र प्रद्युम्न के मर्डर केस ने बुधवार को एक नया मोड़ ले लिया है. सीबीआई की नई थ्योरी ने गुरुग्राम पुलिस की थ्योरी को पलट कर रख दिया है. सीबीआई बुधवार सुबह स्कूल के ही 11वीं क्लास के छात्र को अरेस्ट किया, दोपहर दो बजे उसकी पेशी भी होगी. अभी तक गुरुग्राम पुलिस की थ्योरी में बस कंडक्टर अशोक कुमार को ही मुख्य आरोपी बताया जा रहा था.

पत्नी बोली – निर्दोष हैं मेरे पति

सीबीआई ने जैसे ही 11वीं क्लास के छात्र को गिरफ्तार किया, उसके बाद कडंक्टर अशोक कुमार की पत्नी ममता ने बताया कि उसके पति को पुलिस कस्टडी में मारा पीटा गया था, और दबाव में उसने गुनाह कबूल किया था. ममता ने कहा कि मेरे पति निर्दोष हैं, मैं उनसे मिली थी तब उन्होंने मुझे कहा था कि वह निर्दोष हैं. उन्होंने कहा कि प्रद्युम्न की हत्या के लिए स्कूल प्रबंधन ही पूरी तरह से जिम्मेदार है.

क्या कहती है सीबीआई की थ्योरी

सीबीआई सूत्रों का कहना है कि आरोपी छात्र ने एग्जाम और पीटीएम की वजह से इस वारदात को अंजाम दिया है. सूत्रों की मानें तो आरोपी छात्र स्कूल में होने वाली परीक्षा और पैरेंट्स-टीचर मीटिंग को टालना चाहता था. इसलिए उसने इस वारदात को अंजाम दिया है. इस वारदात के संबंध में जांच के दौरान कई वैज्ञानिक सबूत भी मिले हैं. सीसीटीवी फुटेज में भी आरोपी दिखा है. सीबीआई आज दोपहर को उसे ज्यूवेनाइनल कोर्ट में पेश करेगी.

किया था यौन शोषण का प्रयास

सीबीआई का कहना है कि सीसीटीवी में आरोपी चाकू ले जाते दिखाई दिया है. टॉयलेट में उसने मोबाइल पर पोर्न फिल्म देखी. उसी समय उसकी नजर प्रद्युम्न पर पड़ी. आरोपी ने प्रद्युम्न के साथ यौन शोषण का प्रयास किया, फिर चाकू से गला काटकर हत्या कर दी. आरोपी ने दोस्तों से कहा था कि वे परीक्षा की तैयारी न करें, क्योंकि स्कूल में छुट्टी होने वाली है.

आपको बता दें कि प्रद्युम्न की हत्या के बाद गुरुग्राम पुलिस ने बस कंडक्टर अशोक कुमार को हिरासत में ले लिया था. अशोक कुमार ने उसी दौरान हत्या की बात को कबूल कर लिया था. लेकिन बाद में वह अपनी बात से पलट गया था, उसने कहा था कि उसने दबाव में आकर हत्या की बात स्वीकार की है. गौरतलब है कि अशोक कुमार की गिरफ्तारी के बाद भी लगातार ऐसी बातें आ रही थीं कि हत्या का मुख्य आरोपी कोई और है, यही कारण था कि हरियाणा सरकार ने दबाव के बीच केस सीबीआई को सौंप दिया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.