SPK News desk, सरकार द्वारा पिछले साल 8 नवंबर 2016 को मोदी सरकार ने 500 और 1000 के नोटों पर बैन लगा दिया था। जिसके बाद आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा था। नोटबंदी के फैसले को आज एक साल पूरा हो चुका है. बुधवार को नोटबंदी के एक साल पूरा होने पर कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने इस दिन को काला दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की है।
विपक्षी पार्टियों ने इस मुद्दे का जमकर विरोध किया था लेकिन सरकारी फैसले के सामने किसी की नहीं चली। कांग्रेस समेत कई विपक्षी पार्टियां पूरे देश में नोटबंदी के फैसले के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करेंगी। वहीं बीजेपी नोटबंदी के फैसले को ऐतिहासिक बताते हुए बुधवार को एंटी ब्लैक मनी डे(काला धन विरोधी दिवस) के रूप में मनाने की तैयारी में है। केन्द्र सरकार के कई मंत्री गुजरात जा रहे हैं। केन्द्रीय दूर संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने बनारस और गाजीपुर का रुख किया है तो नई दिल्ली में केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली मंगलवार से ही मोर्चा संभाले बैठे हैं।
बीजेपी के कई मंत्री देश के कई राज्यों में जाकर नोटबंदी के फायदे गिनाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here