नोटबंदी का एक साल: राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधने के लिए नोटबंदी के समर्थक की तस्वीर शेयर की

0
31

कांग्रेस उपाध्यक्ष ने नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर मोदी सरकार की कड़ी आलोचना की। उन्होंने नोटबंदी के बाद लोगों को हुई परेशानियों की ओर इशारा करते हुए ट्विटर पर एक बुजुर्ग की तस्वीर साझा की जो बैंक की लाइन में खड़े रोते दिख रहे हैं। राहुल ने इस तस्वीर के साथ लिखा, ‘एक आँसू भी हुकूमत के लिए ख़तरा है, तुमने देखा नहीं आँखों का समुंदर होना।’

दरअसल नोट बंदी से लहूलुहान हो चुके राहुल, ममता, माया, केजरी जैसे घडियाली आंसू बहाने वाले अपने आँसुओं को आम जनता का दर्द बताने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं.

हालांकि, हकीकत यह है कि राहुल गांधी ने जिस बुजुर्ग की तस्वीर साझा कि वह नोटबंदी से खुश हैं। नोटबंदी की पहली सालगिरह के मौके पर इकनॉमिक टाइम्स ने गुरुग्राम स्थित एक किराए कमरे में रह रहे इस बुजुर्ग नंद लाल से मुलाकात की। रिटायर्ड फौजी नंद लाल ने ईटी से कहा, ‘सरकार जो भी फैसले लेती है, वह देश की भलाई के लिए होता है। इसलिए मैं सरकार के हर फैसले के साथ हूं।’

इकनॉमिक टाइम्स से बातचीत ने इस बुजुर्ग ने बैंक की लाइन में खड़े-खड़े रोने की वजह भी बताई। उन्होंने बताया कि उनके आंसू मोदी सरकार या नोटबंदी के फैसले की वजह से नहीं निकली थी, बल्कि लाइन में धक्का लगने की वजह से एक महिला ने उनका पैर कुचल दिया। इस वजह से वह रो पड़े थे।

बहरहाल, इससे पहले कांग्रेस उपाध्यक्ष ने एक और ट्वीट के जरिए नोटबंदी को विनाशकारी बताया। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘नोटबंदी एक त्रासदी है। हम उन लाखों ईमानदार भारतीयों के साथ हैं जिनकी जिंदगियां और आजीविका के साधन प्रधानमंत्री की बिना सोची-समझी कार्रवाई से तबाह हो गए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here