पद्मावती: विवादित है तो जरूर हिट होगी फिल्म, ये 9 फिल्में हैं सबूत

0
12

संजय लीला भंसाली की आने वाली फिल्म ‘पद्मावती’ शुरू से ही विवादों से घिरी हुई है. राजस्थान की करणी सेना ने भंसाली पर तथ्यों के साथ छेड़-छाड़ का आरोप लगाया है. उन्होंने फिल्म के सेट को तहस-नहस करने के साथ भंसाली के साथ मार-पीट भी की. कई राज्यों में फिल्म का विरोध चल रहा है. फिल्म की रिलीज डेट 1 दिसंबर है, लेकिन फिल्म रिलीज होगी या नहीं, इस पर सस्पेंस बना हुआ है. यह कहना गलत ना होगा कि इतने विवादों का फायदा फिल्म को ही मिलेगा. हालांकि यह पहली बार नहीं है, जब किसी फिल्म के साथ विवाद जुड़ा है. पहले भी कई ऐसी फिल्में आई हैं, जिनका जबरदस्त विरोध हुआ है, लेकिन इसके बावजूद वो सुपरहिट रही हैं.

संजय लीला भंसाली की 2013 में आई फिल्म ‘गोलियों की रासलीला: रामलीला’ में रणवीर सिंह और दीपिका पादुकोण लीड रोल में थे. फिल्म का नाम पहले ‘राम लीला’ था, लेकिन इससे कुछ हिंदुओं की भावनाएं आहत हो गई थीं. क्योंकि फिल्म का नाम हिंदू पौराणिक कथा पर आधारित था. इसके चलते भंसाली, दीपिका और रणवीर पर एफआईआर भी दर्ज करवा दी गई थी. बाद में फिल्म का नाम बदलकर ‘गोलियों की रासलीला: रामलीला’ कर दिया गया.

आशुतोष गोवारिकर की 2008 में आई फिल्म ‘जोधा अकबर’ की रिलीज के समय भी बहुत बवाल हुआ था. राजस्थान में राजपूतों ने गोवारिकर पर इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाकर फिल्म की स्क्रीनिंग को रोक दिया था. उनके मुताबिक, जोधा मारवाड़ के उदय सिंह की बेटी थी और उनकी शादी अकबर के बेटे सलीम से हुई थी. हालांकि फिल्म में दिखाया गया था कि जोधा की शादी अकबर से हुई थी.

2001 की सुपरहिट फिल्म ‘गदर: एक प्रेम कथा’ भी विवादों से बच नहीं पाई थी. फिल्म तारा (सनी देओल) और सकीना (अमीषा पटेल) की कहानी थी. तारा सिख थे और सकीना मुस्लिम. भारत के बंटवारे के समय सकीना के परिवार वाले पाकिस्तान चले जाते हैं, लेकिन सकीना भारत में ही रह जाती हैं. इसके बाद तारा, सकीना के मांग में सिंदूर लगाकर उन्हें अपनी पत्नी बना लेता है. इस फिल्म को लेकर भारत के विभिन्न मुस्लिम गुटों ने विरोध जताया था. मुंबई, अहमदाबाद और भोपाल में इस फिल्म का बहुत विरोध हुआ था. लोगों का आरोप था कि फिल्म में कई ऐसी चीजें दिखाई गई हैं, जो हिंदुओं की भावनाओं को भड़काती हैं.

2014 में रिलीज हुई आमिर खान-अनुष्का शर्मा स्टारर ‘पीके’ पर बहुत से धार्मिक गुटों की भावनाओं को आहत करने का आरोप लगा था. फिल्म में धर्मों के कुछ रीति-रिवाजों को अंधविश्वास के तौर पर दिखाया गया था. इस वजह से इस फिल्म का बहुत विरोध हुआ था, लेकिन फिल्म सुपरहिट साबित हुई थी.

2012 में आई परेश रावल-अक्षय कुमार स्टारर ‘OMG- Oh My God!’ में हिंदु धर्म की सच्चाई को बहुत अच्छे तरीके से पेश किया गया था, लेकिन जब धर्म को फिल्म में दिखाया जाए तो विवाद होना तो तय है. फिल्म की स्टार-कास्ट पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में शिकायत भी दर्ज करवाई गई थी. फिल्म को यूएई में बैन भी कर दिया गया था.

साल 2006 में आई मल्टी-स्टारर फिल्म ‘रंग दे बसंती’ में एक सीन था, जिसमें आमिर खान घोड़े पर सवार दिखते हैं. इस सीन पर मेनका गांधी ने सवाल खड़े कर दिए थे, क्योंकि फिल्म में जानवरों को इस्तेमाल करने के लिए अनुमति नहीं मांगी गई थी. सीन को फिल्म से हटा दिया गया था, लेकिन इसे लेकर विवाद जरूर हो गया था. इन सब के बावजूद फिल्म सुपरहिट साबित हुई थी.

साउथ की एक्ट्रेस सिल्क स्मिता की जिंदगी पर बनी ‘द डर्टी पिक्चर’ 2011 में रिलीज हुई थी. फिल्म को दर्शकों ने बहुत पसंद किया था, लेकिन यह विवादों से बच नहीं पाई थी. पहले तो फिल्म के पोस्टर को लेकर विवाद हुआ था. उसके बाद सिल्क स्मिता के भाई वी नागा वारा प्रसाद ने फिल्म के डायरेक्टर मिलन लुथारिया और प्रोड्यूसर एकता कपूर को सिल्क स्मिता के परिवार की अनुमति के बगैर फिल्म बनाने के लिए लीगल नोटिस भेजा था.

2014 में आई शाहिद कपूर, श्रद्धा कपूर और तब्बू स्टारर ‘हैदर’ भी विवाद में फंस गई थी. दरअसल फिल्म में भारतीय आर्मी को जिस तरह से दिखाया गया था, उससे कुछ लोग खुश नहीं थे. इन सब के वाबजूद फिल्म हिट हुई थी.

शिवसेना ने साल 2010 में आई करण जौहर की फिल्म ‘माय नेम इज खान’ को रिलीज नहीं होने देने की धमकी दी थी. दरअसल 2008 में मुंबई में ताज होटल पर हुए आतंकी हमले के बाद IPL से पाकिस्तानी खिलाड़ियों को बैन कर दिया गया था. 2010 में ‘माय नेम इज खान’ के एक्टर शाहरुख खान ने कहा था कि IPL से पाकिस्तानी खिलाड़ियों पर से बैन हटा लेना चाहिए. यह बात शिवसेना को अच्छी नहीं लगी और उन्होंने मुंबई में फिल्म को रिलीज ना होने देने की धमकी दी थी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here