मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का एलान, 351वें प्रकाश पर्व का भी होगा भव्य आयोजन

0
17

गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 351 वें प्रकाशोत्सव की तैयारियों का मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने रविवार को जायजा लिया और इससे जुड़े स्थानों का निरीक्षण किया. मुख्यमंत्री ने निरीक्षण के बाद गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के व्यवस्थापकों और प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक की और 350वें प्रकाश पर्व की तरह ही इसके आयोजन में भी व्यवस्था करने का निर्देश दिया.

मुख्यमंत्री ने कहा कि इसी साल जनवरी के बाद दिसंबर में होने वाले प्रकाश पर्व को सफल बनाना राज्य सरकार का कर्तव्य है. यहां बहुत बड़ी संख्या में श्रद्धालु मत्था टेकने के लिए आते हैं. पिछली बार जिस तरह का आयोजन हुआ, उसके बारे में पूरे देश में और अन्य देशों में भी जहां सिख रहते हैं, उन्हें जानकारी मिली है और उनके आने की भी संभावना है.

ऐसी स्थिति में राज्य सरकार ने जिस तरह से पहले सहयोग किया था, उसी तरह इस बार भी पूरा सहयोग करेगी. मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछली बार गांधी मैदान में बड़ा आयोजन किया गया था. इस बार उसकी आवश्यकता नहीं है, लेकिन पिछली बार की तरह इस बार भी बाईपास में टेंट सिटी व दीवान हॉल और कंगन घाट में टेंट सिटी बनायी जा रही है. पिछली बार से ज्यादा संख्या में इसे तैयार किया जा रहा है. इसके अलावा लंगर की पर्याप्त व्यवस्था और आवागमन की सुविधा पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है. राज्य सरकार ने जैसी व्यवस्था पिछली बार की थी, वैसी ही इस बार करेगी. इसको लेकर गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से बात हुई है और पूरी उम्मीद है कि इसमें सब लोगों के सहयोग मिलेगा.

मुख्यमंत्री ने गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी से कहा कि प्रकाश पर्व का आयोजन उसे ही करना है. इसमें राज्य सरकार हर तरह का सहयोग करेगी. श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो, इसका पूरा ख्याल रखना है. बड़ी संख्या में बाहर से लोग आयेंगे, उन्हें कोई दुख-तकलीफ न हो और खुश होकर यहां से जाएं, इसका ध्यान रखना है. जो भी सुझाव हों, उन्हें दीजिए, उन्हें पूरा किया जायेगा.

सीएम की अपील, श्रद्धालुओं का करें सहयोग और सेवा

मुख्यमंत्री ने पटनावासियों खासकर पटनासाहिब इलाके में रहने वाले लोगों से अपील की है कि जिस प्रकार श्रद्धालुओं की सेवा और सहयोग किया था, उसी प्रकार इस बार भी करें. समाज के हर वर्ग के लोगों ने जिस प्रकार मदद की थी, उससे बाहर से आये हुए श्रद्धालुओं के मन में बिहार और बिहारियों के प्रति अच्छी भावना पैदा हुई. इसलिए जो श्रद्धालु आएं, उनकी सेवा के लिए तत्पर रहें, इस बार भी वही व्यवहार हो. बिहारवासियों के लिए तो यह गौरव की बात है कि गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का जन्म यहां हुआ था. इसलिए जो भी जरूरत होगी, राज्य सरकार पूरा करेगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here