मुख्‍य तेल पाइपलाइन में विस्‍फोट को बहरीन ने बताया आतंकी घटना

0
296

बहरीन ने अपनी मुख्य तेल पाइपलाइन को विस्फोट से उड़ाने को आतंकी घटना करार दिया है और उसके लिए प्रतिद्वंद्वी ईरान को जिम्मेदार ठहराया है। ईरान ने इस आरोप का खंडन किया है।

कहा है कि विस्फोट की इस घटना से उसका कोई संबंध नहीं है। यह घटना खाड़ी देश में व्याप्त अंदरूनी कलह का नतीजा है। शिया मुस्लिम बहुल बहरीन में सुन्नी शासन व्यवस्था है। इसके चलते वहां पर वर्षो से अशांति बनी हुई है।

सत्ता विरोधी विद्रोही गुटों को ईरान का समर्थन प्राप्त है। हाल के महीनों में यहां पर कई ¨हसक घटनाएं भी हुई हैं। प्रमुख तेल उत्पादक देश में अमेरिकी नौसेना का अड्डा है, जहां उसका पांचवां बेड़ा तैनात है।

गृह मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि पाइपलाइन को उड़ाने की हरकत बहरीन के हितों और लोगों की सुरक्षा को खतरा पैदा करने के लिए हुई। बहरीन ने हाल के दिनों में कई आतंकी हमलों को झेला है। यह हमला भी उनमें से एक है। शुरुआती जांच से पता चला है कि उसके तार ईरान से जुड़े हुए हैं।

यह बयान बहरीन के गृह मंत्री शेख राशिद बिन अब्दुल्ला अल-खलीफा की ओर से आया है। बहरीन के अधिकारियों ने बताया है कि हालात अब नियंत्रण में हैं और आग को पर काबू पा लिया गया है।

विस्फोट की जानकारी मिलते ही तेल आपूर्ति को रोक दिया गया जिससे जान-माल का ज्यादा नुकसान होने से बच गया। आसपास 15 किलोमीटर दायरे में स्थित गांवों को खाली करा लिया गया।

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्रालय ने कहा है कि बहरीन को होने वाली कच्चे तेल की आपूर्ति को फिलहाल रोक दिया गया है और देश के तेल ठिकानों की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

बहरीन में अबू सफा तेल क्षेत्र से सर्वाधिक तेल निकाला जाता है। यहां से वह सऊदी अरब के सहयोग से तेल निकालता है। यहां से प्रतिदिन 2,30,000 बैरल तेल निकाला जाता है।

इसी से संबंधित पाइपलाइन को विस्फोट से उड़ाया गया है। जान-माल के नुकसान का आंकड़ा सार्वजनिक नहीं किया गया है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.