SPK News desk, एनजीटी ने सलाह दी है कि बढ़ते हिमस्खलन से बचाने के लिए अमरनाथ गुफा को ‘साइलेंट जोन’ घोषित किया जाना चाहिए। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने ये भी कहा है कि भगवान शंकर को चढ़ाए जाने वाले नारियल पर भी रोक लगाएं। एनजीटी ने अमरनाथ श्राइन द्वारा बनाई गई पर्यावरण सुरक्षा कमीटी से यह भी पूछा है कि श्राइन के आस-पास बनी दुकानें और टॉयलेट अभी तक क्यों नहीं हटाई गईं हैं।
एनजीटी ने इससे पहले वैष्णो देवी दर्शन करने जाने वाले श्रद्धालुओं को लेकर आवश्यक निर्देश जारी किये थे जिसके मुताबिक, मां वैष्णो देवी के दर्शन के लिए एक दिन में अब केवल 50 हजार श्रद्धालु ही कटरा से ऊपर जा सकेंगे। इस आदेश के पीछे सबसे बड़ी वजह लोगों की सुरक्षा भी है। वैष्णो देवी के दर्शन के लिए जाने वाले श्रद्धालुओं की बढ़ती संख्या को देखते हुए एनजीटी ने यह कदम उठाया। वैष्णो देवी मंदिर के दरबार में 50 हजार लोगों की ही क्षमता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here