कोलकाता टेस्ट, तीसरा दिन: 172 रन पर सिमटी भारतीय पहली पारी, चेतेश्वर पुजारा की हाफ सेंचुरी

0
160

कोलकाता
बारिश से बाधित कोलकाता टेस्ट के तीसरे दिन भारतीय पारी सिर्फ 172 रन पर सिमट गई। चेतेश्वर पुजारा ने अपने धैर्य, एकाग्रता और कौशल का फिर से बेजोड़ नमूना पेश करते हुए एक छोर संभाले रखा, लेकिन दूसरे छोर पर कोई भी भारतीय बल्लेबाख बड़ी पारी नहीं खेल सका। पुजारा ने सबसे अधिक 52 रन की पारी खेली। दूसरे दिन तक भारत का स्कोर सिर्फ 5 विकेट 74 रन रहा। पहले और दूसरे दिन कुल 32.5 ओवर ही हुए थे। पहले दिन 11.5 ओवर डाले गये थे, जबकि दूसरे 21 ओवर का खेल ही संभव हो पाया।इससे पहले तीसरे दिन पुजारा ने चौके के साथ अपना अर्धशतक पूरा किया, लेकिन वह इसके बाद अधिक देर तक नहीं टिक सके। पुजारा 52 के निजी योग पर लाहिरू गामागे की गेंद पर बोल्ड हुए। पुजारा ने अपनी 117 गेंदों की जुझारू पारी में 10 चौके लगाए। उन्होंने 108 गेंदों का सामना कर अपने करियर का 16वां अर्धशतक पूरा किया। पुजारा ने साहा के साथ 26 रनों की साझेदारी की। जडेजा ने खेली 22 रन की पारी
उनकी विदाई के बाद रवींद्र जडेजा विकेट पर आए और उन्होंने साहा का अच्छा साथ दिया। इन दोनों ने भारत के स्कोर को 100 के पार पहुंचाया। जडेजा 127 के कुल योग पर दिलरुवान परेरा की गेंद पर पगबाधा आउट करार दिए गए। अम्पायर ने हालांकि जडेजा को नाटआउट करार दिया था, लेकिन श्रीलंका टीम द्वारा रिव्यू लिए जाने के बाद उन्हें आउट करार दिया गया। जडेजा ने 22 रन बनाए।

साहा 29 रन बनाकर हुए आउट
उन्होंने 37 गेंदों का सामना कर तीन चौके और एक छक्का लगाया। उनका विकेट 127 के कुल योग पर गिरा। कुल योग में अभी एक रन ही जुड़ा था कि साहा भी आउट हो गए। साहा का भी विकेट परेरा ने लिया। दोनों विकेट 52वें ओवर में गिरे। साहा ने अम्पायर के फैसले के खिलाफ डीआरएस लिया था लेकिन टीवी अम्पायर जोए विल्सन ने उसे नकार दिया। साहा ने 83 गेंदों का सामना कर छह चौकों की मदद से 29 रन बनाए। भुवनेश्वर कुमार (13) का विकेट 146 के कुल योग पर गिरा। भुवी ने 17 गेंदों का सामना कर एक चौका लगाया। भुवी को सुरंगा लकमल ने आउट किया।

लकमल को 4 विकेट
इसके बाद उमेश यादव नाबाद (6) और लोकल हीरो मोहम्मद समी (24) ने मिलकर स्कोर को 150 तक पहुंचाया। इसके बाद दोनों ने कई जोरदार शॉट्स लगाए। खासतौर पर समी ने ताबड़तोड़ अंदाज में खेलते हुए तीन झन्नाटेदार चौके जड़े। समी ने 22 गेंदों का सामना किया। समी और यादव ने अंतिम विकेट के लिए 19 गेंदों पर 26 रन जोड़े। श्रीलंका की ओर से लकमल ने सबसे अधिक चार विकेट लिए जबकि परेरा दाशुन शनाका और गामागे को दो-दो सफलता मिली।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here