व्यापम: कोर्ट से सजा के बावजूद कांग्रेस प्रवक्ता ने शिवराज पर दोहराए आरोप

0
240

भोपाल
मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मानहानि के मामले में अदालत द्वारा दो साल की सजा सुनाए जाने के बाद कांग्रेस प्रवक्ता के के मिश्रा ने एक बार फिर अपने आरोप दोहराए हैं। साथ ही उन्होंने कुछ सवाल भी उठाए हैं। मिश्रा ने एक बयान जारी करते हुए कहा, ‘न्यायालय के फैसले का मैं सम्मान करता हूं। मुझे ऐसे ही फैसले का पूर्वानुमान था। शायद देश में यह पहला फैसला होगा, जिसमें किसी भ्रष्टाचार करने वाले को नहीं बल्कि उसे उजागर करने वाले को सजा सुनाई गई है? हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला जहां 3000 शिक्षकों की अवैध नियुक्तियों को लेकर जेल में हैं, वहीं हमारे मुख्यमंत्री 1 लाख 40 हजार पात्र बच्चों के भविष्य को अंधकार में डालने के बाद स्वछन्द घूम रहे हैं? गत 15 जनवरी,2014 को इन्हीं मुख्यमंत्री ने विधानसभा में व्यापमं घोटाले को अपने माथे का कलंक बताया था। वैसे भी प्रदेश के मुखिया के रूप में वे इस जवाबदारी से कैसे बच सकते हैं ?’

उन्होंने यह सवाल भी उठाया है कि राज्य सरकार की मानहानि में क्या मुख्यमंत्री की पत्नी और बच्चे भी शामिल होते हैं? अदालत के फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए के के मिश्रा ने कहा, ‘मुख्यमंत्री जी अब तो आप मुझे सजा दिलवाकर प्रसन्न हो गए होंगे, किन्तु मैं आपको यह स्पष्ट कर दूं कि ऐसे कई फैसले भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरी आवाज को बंद नहीं कर पाएंगे। भ्रष्टाचार के खिलाफ आवाज उठाने को लेकर इस फैसले ने मुझे और भी अधिक शक्ति दी है। आगे मैं और ताकत से अपनी लड़ाई लड़ूंगा।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here