पहले रोबोट नेता ‘सैम’ का पदार्पण, लड़ सकता है चुनाव

0
169

न्यूजीलैंड में साल 2020 के आखिर में आम चुनाव होंगे। गेरिसन का कहना है कि तब तक सैम एक प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरने के लिए तैयार हो जाएगा।
मेलबोर्न, एजेंसी। आखिरकार वैज्ञानिकों ने विश्व के पहले ‘आर्टिफिशल इंटेलिजेंस'(कृत्रिम बुद्धिमत्ता) से लैस रोबोट नेता ‘सैम’ का विकास कर लिया है। यह स्थानीय मुद्दों- शिक्षा, आवास, आव्रजन जैसे मुद्दों पर बात कर सकता है। यदि भविष्य में मंजूरी मिली तो वह चुनाव भी लड़ सकता है।

न्यूजीलैंड के उद्यमी ने बनाया
‘सैम’ का निर्माण न्यूजीलैंड के 49 वर्षीय उद्यमी निक गेरिसन ने किया है। उनका कहना है कि ‘ऐसा लगता है कि फिलहाल राजनीति में कई पूवाग्रह हैं और ऐसा प्रतीत होता है कि दुनिया के देश जलवायु परिवर्तन और समानता जैसे जटिल मुद्दों का हल नहीं निकाल पा रहे हैं।

फेसबुक मैसेंजर से ले रहा ट्रेनिंग
फिलहाल आर्टिफिशल इंटेलीजेंस (एआई) वाला यह राजनीतिज्ञ फेसबुक मैसेंजर के जरिए लगातार लोगों को प्रतिक्रिया देना सीख रहा है। इसके अलावा यह विभिन्न सर्वे पर भी तवज्जो दे रहा है।

परफैक्ट नहीं पर करेगा मदद
‘टेक इन एशिया’ मैगजीन का कहना है कि इस रोबोट का सिस्टम परफैक्ट नहीं है, लेकिन फिर भी यह विभिन्न देशों में बढ़ती राजनीतिक व सांस्कृतिक खाई को पाटने में कारगर हो सकता है।

2020 में चुनाव लड़ेगा?
न्यूजीलैंड में साल 2020 के आखिर में आम चुनाव होंगे। गेरिसन का कहना है कि तब तक सैम एक प्रत्याशी के तौर पर मैदान में उतरने के लिए तैयार हो जाएगा। हालांकि कानूनी तौर पर यह संभव नहीं दिखता। दरअसल सैम एक मददगार की भूमिका में रहेगा, जो मौजूदा कानूनी सीमाओं में रहकर काम कर सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here