लव जिहाद मामले में हादिया की आज सुप्रीम कोर्ट में पेशी

0
300

फाइल फोटो
नई दिल्ली
केरल के बहुचर्चित ‘लव जिहाद’ मामले में हादिया बन चुकीं अखिला अशोकन सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में पेश होंगी। कोर्ट ने पिछली सुनवाई में कहा था कि वह हादिया से बातचीत कर उनकी मानसिक स्थिति का शुरुआती आकलन करेगा। बता दें कि केरल हाई कोर्ट ने हादिया की मुसलमान लड़के के साथ शादी को ‘रद्द’ घोषित करते हुए उसे पिता के हवाले करने का आदेश दिया था।

टॉप कॉमेंट
अरे भाई ये क्या है. अगर ऐसा ही करना है तो कितने भाजपा वाले का दामाद मुस्लिम है उनके खिलाफ कोई कोर्ट क्यो नही जाता.
Badshah
2 | 0 | 0 चर्चित |आपत्तिजनक
सभी कॉमेंट्स देखैंकॉमेंट लिखें
सुप्रीम कोर्ट ने पिछली सुनवाई में टिप्पणी की थी कि लड़की बालिग है और उसकी इच्छा महत्वपूर्ण है। कोर्ट ने कहा था कि बालिग होने की वजह से लड़की किसी के साथ भी जाने के लिए स्वतंत्र है। एनआईए ने इसके जवाब में कहा था कि उसे केरल में इस तरह के 89 मामलों में एक ही तरह का खास पैटर्न दिखा है। उधर, सुप्रीम कोर्ट के सामने पेशी के लिए रवाना होने से पहले हादिया ने केरल में रविवार को एक बार फिर दोहराया कि किसी ने भी उसे इस्लाम में धर्मांतरण के लिए मजबूर नहीं किया था। वह अपने 25 वर्षीय पति शफीन जहां के पास जाना चाहती है।

बता दें कि अखिला अशोकन उर्फ हादिया ने कथित रूप से धर्म परिवर्तन कर शैफीन जहां नाम के एक शख्स से निकाह किया था। लड़की के पिता के. एम. अशोकन ने केरल हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल कर शादी रद्द करने की गुहार लगाई थी। याचिका में कहा गया था कि लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया और लड़के (शैफीन) का संबंध आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट संगठन से है। इसमें आरोप लगाया था कि पीएफआई के सदस्य हिंदू लड़कियों को भ्रमित कर इस्लाम धर्म अपनाने के लिए प्रेरित करते हैं। केरल हाई कोर्ट ने हादिया और शैफिन की शादी को ‘रद्द’ कर दिया और लड़की को उसके पिता के हवाले करने का आदेश दिया।

शादी ‘रद्द’ किए जाने के हाई कोर्ट के फैसले को शैफीन ने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी। बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने नैशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) को हादिया के साथ-साथ उससे मिलते-जुलते ‘लव जिहाद’ के मामलों की जांच करने का आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया कि एनआईए यह जांच करें कि क्या लड़कियों का बहला-फुसलाकर धर्मांतरण कराया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.