बिहार विधानमंडल का शीतकालीन सत्र : विपक्ष ने सदन में लाया कार्यस्थगन प्रस्ताव, अध्यक्ष के नामंजूर करने पर हंगामा, शून्यकाल बाधित

0
161

12 : 08 : शून्यकाल बाधित.
12 : 05 : अध्यक्ष की बात नहीं सुन रहे हैं राजद सदस्य. कार्यस्थगन की नामंजूरी के विरोध में विपक्ष ने शुरू किया हंगामा.

12 : 00 : विरोधी दल के सदस्यों ने टेबल थपथपा कर शुरू की नारेबाजी.

11 : 52 : सदन में विपक्ष के ललित यादव और रामदेव राय ने सदन में हत्या, अपराध को लेकर कार्यस्थगन लाया, जिसे विजय कुमार चौधरी अध्यक्ष ने अमान्य कर दिया. उसके बाद सदन में नारेबाजी शुरू हो गयी है.
11 : 25 : तेजस्वी यादव ने कहा कि भागलपुर समेत जगहों पर बांध टूटा है, उस पर ध्यान दें. जो मंत्री कहते हैं कि उस पर काम करें. बांध की क्वालिटी पर ध्यान दिया जाये.
11 : 18 : सरकार का पैसा किसी के बाप का पैसा नहीं है. जनता का अधिकार है कि एक-एक पैसे का हिसाब भी जनता के सामने रखा जाना चाहिए : तेजस्वी यादव
11 : 16 : तेजस्वी ने कहा कि 12 साल से घोटाला हो रहा है, उसमें क्या कार्रवाई हुई. किसको क्या सजा हुई, बताइये. सरकार में घोटाले के लिए डबल इंजन लगाया गया है क्या? तेजस्वी प्रसाद यादव के बोलने के बाद सदन में हंगामा शुरू.
11 : 14 : सुशील मोदी के बोलने पर हंगामा. सुशील मोदी ने कहा कि सभी जिलों को निर्देश दिया गया है कि जिलों में निश्चय योजना में अवैध निकासी पर कार्रवाई करें. हम किसी को नहीं छोड़ेंगे. किसी को बख्शा नहीं जायेगा.
11 : 12 : नेता प्रतिपक्ष व राजद नेता तेजस्वी प्रसाद यादव ने कहा कि बार-बार कहने के बाद भी घोटालों पर कार्रवाई नहीं हो रही है. भ्रष्टाचार को छिपाने के लिए बिहार के अधिकारी काम कर रहे हैं. घोटाला छिपाने के लिए मुख्यमंत्री ने महागठबंधन को तोड़ा है. जांच नहीं हो रही है. सदन में आकर मुख्यमंत्री जवाब दें.
11 : 10 : मुख्यमंत्री निश्चय योजना में घोटाले पर सदन में बहस शुरू
11 : 00 : सदन की कार्रवाई शुरू
10 : 55 : समस्तीपुर में बुधवार को बीएमपी के जवान की हत्या पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए राजद के भोला यादव ने कहा कि आज सदन में इसकी चर्चा कर सरकार को घेरा जायेगा. वहीं, माले के सदस्यों ने शिक्षकों के ‘समान काम-समान वेतन’ और बटाईदारों के पक्ष में सरकार द्वारा कार्रवाई करने की मांग की.
10 : 50 : विधानसभा पोर्टिको में सभी विरोधी दल के विधायकों ने हाथो में घोटालों का पोस्टर लेकर किया प्रदर्शन. शौचालय, सृजन और विदयालय निर्माण में घोटाले को लेकर मुख्यमंत्री के खिलाफ नारेबाजी की नारेबाजी.

10 : 40 : विपक्षी दल के सदस्यों सदन के बाहर पोर्टिको में पहुंचे.
पटना : बिहार विधानसभा में बुधवार को काफी हंगामा हुआ. शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन कई विधेयक पेश किये जाने हैं. विपक्ष सदन के अंदर जहां सवालाें को लेकर सरकार को घेरने की कोशिश कर रही है, वहीं सदन के बाहर भी विपक्ष के सदस्य नारेबाजी कर कानून-व्यवस्था को लेकर सवाल उठा रहे हैं. विपक्ष की ओर से कानून-व्यवस्था को लेकर सदन में कार्यस्थगन प्रस्ताव लाया गया है. इसे लेकर श्याम रजक और नंदकिशोर ने कहा कि राजद को यह अधिकार नहीं है कि वह इस मुद्दे पर बात करे.

श्याम रजक ने कहा कि बिहार की जनता आज जितना सुरक्षित महसूस कर रही है, उतना पहले कभी नहीं करती थी. दस-पंद्रह वर्ष पहले जो स्थितियां थी, वह आज नहीं है. परिस्थितियां बदल गयी हैं. छिटपुट घटनाएं होती हैं, इसे नकारा नहीं जा सकता. लेकिन घटनाओं के बाद अब पकड़ा जाता है. जिन लोगों के पेट में दर्द होता है, उन्हें अपने गिरेबां में भी झांकना चाहिए. उन्हें अपने सदस्यों और कार्यकर्ताओं का इतिहास भी देखना चाहिए कि उनका क्या कारनामा रहा है. बिहार में व्यवसायियों और पुलिसकर्मी की हत्या पर उन्होंने कहा कि घटनाएं घटती हैं, लेकिन पहले अपराधी पकड़े नहीं जाते थे, अब पुलिस तत्काल अपराधियों को पकड़ रही है. पहले घटनाओं के बाद जनता में दहशत होता था. दहशत और घटना में अंतर होता है.

वहीं, नंद किशोर ने कहा कि ऐसी कोई बात नहीं है. राजद को कानून-व्यवस्था के बारे में सवाल उठाना हास्यास्पद है. राजद ने अपने शासनकाल में जिस तरह से बिहार को तबाह-बरबाद किया, अपराधियों का राज कायम किया था, उन्हें कोई नैतिक अधिकार नहीं है कि कानून-व्यवस्था के बारे में बात करें. सूबे की वर्तमान सरकार कानून-व्यवस्था का राज स्थापित करने को प्रतिबद्ध है. घटनाएं होती हैं, हम अपराधियों को पकड़ते हैं, यही कानून का राज है. विधानमंडल की कार्यवाही के अनुरूप कोई प्रस्ताव आता है, तो हम सदन में बहस के लिए तैयार हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here