22 साल बाद वर्ल्ड वेटलिफ़्टिंग चैंपियनशिप में भारत को मिला गोल्ड मेडल

    0
    163

    नई दिल्ली। भारत की सैखोम मीराबाई चानू ने वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप में नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाते हुए कुल 194 किलोग्राम (85 किलोग्राम स्नैच और क्लीन एंड जर्क में 109 किलोग्राम) वजन उठाकर गोल्ड मेडल जीता। यह उपलब्धि हासिल करने वाली वह दूसरी भारतीय महिला वेटलिफ्टर हैं। चानू से पहले कर्णम मल्लेश्वरी ने 22 साल पहले वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप्स में गोल्ड मेडल जीता था।

    चानू ने अमेरिका के आनाहिम में हुई चैंपियनशिप्स में महिलाओं के 48 किलोग्राम भार वर्ग इवेंट में हिस्सा लिया था। उन्होंने पहले 85 किलोग्राम तक का भार सफलतापूर्वक उठाया और इसके बाद 109 किलोग्राम भार भी उठा लिया। उन्होंने देश को इस स्पर्धा में दूसरा गोल्ड मेडल दिलाया। देश को पहला गोल्ड मेडल 1995 में कर्णम मल्लेश्वरी ने दिलाया था।

    बता दें कि सितंबर में चानू ने अगले साल होने वाले कॉमनवेल्थ गेम्स के लिए अपनी जगह पक्की कर ली है। उन्होंने ऑस्ट्रेलिया में संपन्न कॉमनवेल्थ सीनियर वेटलिफ्टिंग चैंपियनशिप्स में गोल्ड मेडल जीता था।

    पोडियम पर खड़े होकर तिरंगा देखकर गोल्ड विजेता चानू की आंखों से आंसू निकल गए। थाईलैंड की सुकचारोन तुनिया ने रजत और सेगुरा अना इरिस ने कांस्य पदक जीता। डोपिंग से जुड़े मसलों के कारण रुस, चीन, कजाखस्तान, उक्रेन और अजरबैजान जैसे भारोत्तोलन के शीर्ष देश इसमें भाग नहीं ले रहे हैं।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here