बर्थडे स्पेशल: कभी चने बेचकर गुजारा करते थे धर्मेंद्र, ₹51 से शुरू किया था बॉलीवुड का सफर

0
103

नई दिल्ली: धर्मेंद्र का नाम लेते ही बॉलीवुड पर राज करने वाले एक खूबसूरत, रोमांटिक नायक की तस्वीर जेहन में उभर आती है. टाइम्स पत्रिका ने उन्हें दुनिया के 10 सबसे खूबसूरत अभिनेताओं में शुमार किया. मशहूर अभिनेत्री जया बच्चन उनकी खूबसूरती से प्रभावित होकर उन्हें ग्रीक देवता मानती हैं. अभिनेता दिलीप कुमार ने यहां तक कह दिया था कि वह अगले जन्म में धर्मेद्र जैसी शख्सियत बनना चाहते हैं. उन्हें ‘ही मैन’ भी कहा गया.

hema

धर्मेद्र की खूबसूरती और आकर्षक व्यक्त्वि का ही असर रहा है कि ड्रीम गर्ल के नाम से मशहूर हेमा मालिनी उनकी पत्नी हैं. धर्मेद्र का असली नाम धरम सिंह देओल है. उनका जन्म पंजाब के कपूरथला जिले में आठ दिसंबर, 1935 को हुआ था. वैसे असल में वह साहनेवाल गांव के रहने वाले हैं. वह पहलवानी के जबरदस्त शौकीन थे. धर्मेद्र अभिनेता सनी और बॉबी देओल के पिता हैं. धर्मेद्र 2004 से 2009 तक बीजेपी की तरफ से बीकानेर के सांसद रहे. लेकिन शोले में गब्बर सिंह जैसे दुर्दात डकैत को काबू करने वाले धर्मेद्र राजनीति के वीरू नहीं बन पाए. उन्हें राजनीति रास नहीं आई.

CVrxEd3WUAApVfx

मशहूर अदाकारा सुरैया के धर्मेद्र इतने दीवाने थे कि उनकी फिल्म ‘दिल्लगी’ (1949) को उन्होंने 40 बार देखा. वह मीलो पैदल चलकर सिनेमाघर जाते थे. उन्होंने सिर्फ हाईस्कूल तक ही पढ़ाई की थी. फिल्मों में आने से पहले धर्मेद्र रेलवे में क्लर्क थे. सवा सौ रुपये महीना उनकी तनख्वाह थी. 19 साल की उम्र में ही उनकी शादी प्रकाश कौर से हो गई. नई प्रतिभाओं की तलाश के लिए फिल्मफेयर की तरफ से आयोजित टैलेंट हंट प्रतियोगिता में धर्मेद्र विजेता बन कर बाजी मार ले गए.

टैलेंट हंट जीतने के बाद भी धर्मेद्र के लिए फिल्मों की राह आसान नहीं हुई. उन्होंने कड़ा संघर्ष किया. कई बार वह चने खाकर बेंच पर सो जाते और कभी-कभी तो चना भी नसीब नहीं होता. वह अपने एक दोस्त के साथ जुहू में रहा करते थे. एक बार भूख से व्याकुल धर्मेद्र ने अपने दोस्त के मेज पर रखे ईसबगोल का पैकेट देखा तो उन्होंने पूरा ईसबगोल ही खा लिया. तबीयत खराब होने पर उन्हें डॉक्टर के पास ले जाया गया.
dharmendra

निर्माता-निर्देशक धर्मेद्र को पहलवानी में हाथ आजमाने का सलाह देकर अपने दफ्तर से उन्हें चलता कर देते. इसी दौरान आकर्षक धर्मेद्र अर्जुन हिंगोरानी को भा गए. उन्हें महज 51 रुपये देकर फिल्म ‘दिल भी तेरा हम भी तेरे’ (1960) में नायिका कुमकुम के साथ हीरो की भूमिका के लिए साइन कर लिया गया. यह फिल्म कुछ खास नहीं चली.

धर्मेद्र को फिल्म ‘फूल और पत्थर’ से पहचान मिली. यह उनके करियर की पहली हिट फिल्म थी. फिल्म की शूटिंग के दौरान उनकी नजदीकियां मीना कुमारी के साथ बढ़ी और वह शायरी करने के शौकीन हो गए. हालांकि, मीना कुमारी के साथ उनका रिश्ता लंबा नहीं चला. धर्मेद्र ने ‘ड्रीम गर्ल’, ‘शोले’, और ‘रजिया सुल्ताना’ आदि फिल्मों में बेहद खूबसूरत अदाकारा हेमा मालिनी के साथ काम किया और इसी दौरान दोनों का प्यार परवान चढ़ने लगा. हेमा के साथ रोमांस के लिए धर्मेद्र कई बार कैमरामैन को रिश्वत भी दिया करते थे. आखिरकर 1981 में अभिनेता ने इस्लाम धर्म अपनाकर दिलावर खान के नाम से हेमा संग शादी रचा ली. एशा देओल और आहना देओल दोनों की बेटियां हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here