गुजरात चुनाव : 977 उम्मीदवारों की किस्मत कुछ ही घंटों में EVM में हो जाएगी कैद

0
153

अहमदाबाद: गुजरात में पहले दौर की वोटिंग में सौराष्ट्र की 48, कच्छ की 6 और दक्षिण गुजरात की 35 सीटों के लिए वोटिंग खत्म होने में अब कुछ ही घंटे बाकी हैं. ये चुनाव 22 साल से सत्ता में बैठी बीजेपी और जमीन तलाश रही कांग्रेस के बीच हैं. बीजेपी के सामने गढ़ बचाने की चुनौती है तो कांग्रेस के लिए वापसी की राह तैयार करने का मौका है. गुजरात का चुनाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी के लिए भी निजी प्रतिष्ठा का सवाल बन चुका है क्योंकि एक तरफ पीएम ने गुजराती अस्मिता का मुद्दा उछाल दिया है तो दूसरी तरफ कांग्रेस अध्यक्ष बनने जा रहे राहुल गांधी ने भी चुनाव में दमदार प्रदर्शन के लिए ज़ोर लगा रखा है. पहली बार गुजरात की जनता को वोट डालने पर वीवीपैट की पर्ची मिल रही है जिससे वोट किसको गया है इसकी भी पुष्टि हो जाती है. 2 करोड़ 12 लाख वोटर 977 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला आज कर देंगे.
गुजरात में 10 बजे तक 9.77 फीसदी मतदान हो चुका था. वहीं कांग्रेस नेता अहमद पटेल ने दावा किया है कि गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 110 से ज्यादा सीटें जीतेगी.
गुजरात विधानसभा चुनाव के पहले चरण की 89 सीटों के लिए मतदान जारी है. क्रिकेटर चेतेश्वर पुजारा ने भी अपना वोट डाला है.
मतदान सुबह 8 बजे से शुरू हो गया था. इससे पहले सीएम विजय रुपाणी ने पूजा-पाठ की फिर मतदान किया और कहा कि गुजरात में बीजेपी के सामने कोई चुनौती नहीं.
12 बजे तक 30.3 % फीसदी मतदान हो चुका है. पहले चरण में मतदान के लिए 24,689 केंद्र बनाए गए हैं. इस चरण में 977 उम्मीदवार चुनावी मैदान में हैं. सबसे अधिक 27 उम्मीदवार सौराष्ट्र की जामनगर ग्रामीण सीट पर है
पीएम मोदी ने रैली में कहा- जो कांग्रेस नेता मेरे गरीब परिवार का मजाक उड़ा रहे हैं, उनसे मैं कहना चाहता हूं कि मेरे लिए राष्ट्र ही सबकुछ है. देश ने कांग्रेस को पूरी तरह से नकार दिया है, गुजरात भी नकारेगा.
गुजरात चुनाव : अरुण जेटली बोले- बीजेपी की चौतरफा जीत होगी, कांग्रेस की चालें कामयाब नहीं हुईं.
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी अपने परिवार के साथ समय विताने के लिए अपने व्यस्त दौरे से समय निकालकर गुजरात से दिल्ली लौट आएंगे क्योंकि आज कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का जन्मदिन भी है.
भरूच में एक जोड़े ने अपनी शादी के समारोह से पहले पोलिंग बूथ जाकर मतदान किया.
सूरत में सुबह से ही वोट डालने के लिए लोग बड़ी तादाद में मतदान केंद्रों पर पहुंचे, जिनमें बुजुर्गों और महिलाएं की संख्या भी काफी अधिक थी.
राहुल ने 11वें सवाल में पूछा ‘मैं केवल इतना पूछूंगा..क्या कारण है इस बार प्रधानमंत्री जी के भाषणों में ‘विकास’गुम है..मैंने गुजरात के रिपोर्ट कार्ड से 10 सवाल पूछे उनका भी जवाब नहीं..पहले चरण का प्रचार ख़त्म होने तक घोषणा पत्र नहीं..तो क्या अब‘भाषण ही शासन’है?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here