दिल्‍ली में CM नीतीश ने शरद पर साधा निशाना, कहा- पूरे देश में लागू हो शराबबंदी

0
26

दिल्‍ली में जदयू के राष्‍ट्रीय सम्‍मेलन में नीतीश कुमार शामिल हुए। उन्‍होंने पूर्व अध्‍यक्ष शरद यादव पर बिना नाम लिए निशाना साधा। उन्‍होंने देश में शराबबंदी लागू करने पर बल दिया।
पटना । दिल्ली स्थित तालकटोरा गार्डेंन में रविवार को आयोजित जदयू कार्यकर्ताओं की बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शामिल हुए। सम्मेलन में नीतीश कुमार ने पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का नाम लिये बिना कहा कि पहले जो अध्यक्ष थे, उनलोगों ने पार्टी को आगे नहीं बढ़ाया। उन्होंने दिल्ली में जदयू का जनाधार बढ़ाने का एलान किया। सम्मेलन में नीतीश कुमार ने शराबबंदी देश भर में लागू करने पर भी बल दिया।

सीएम नीतीश ने सवाल उठाया कि कांग्रेस और वामपंथी शराबबंदी के खिलाफ अभियान क्यों नहीं चलाते हैं? सभी धर्मों में शराब को गलत माना गया है। सांप्रदयिक सद्भाव के लिए शराबबंदी जरूरी है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी के बाद बिहार में सड़क दुर्घटनाओं में कमी आयी है।

कहा कि नारी सशक्‍तीकरण की दिशा में बिहार में बेहतर काम हुआ है। बिहार में पंचायती राज व्‍यवस्‍था में महिलाओं को 50 प्रतिशत का अारक्षण दिया गया। अब हालत ये है कि चुनाव में महिलायें आधी से अधिक सीटों पर जीतकर आ रहीं हैं। महिला सशक्‍तीकरण हुआ है।

सीएम नीतीश ने कहा, पहले बिहार में लड़कियां स्‍कूलों में कम जातीं थी। लेकिन, जब हमने साइकिल और पोशाक योजना शुरू की तो लड़कियां पढ़ने के लिए जाने लगीं। जब हमने पहली बार इस योजना को शुरू किया था तब नौंवी क्‍लास में लड़कियों की संख्‍या एक लाख के करीब थी। आज वह संख्‍या नौ लाख से अधिक हो चुकी है।

नीतीश कुमार ने कहा, एक बार पटना के श्रीकृष्‍ण मेमोरियल हॉल में कार्यक्रम के बाद महिला ने कहा कि बिहार में शराब बंद कर दीजिए। मैंने कहा था कि अगली बार सरकार में आयेंगे तो यह करेंगे। सरकार में आने पर हमने सबसे पहले शराबबंदी की। इसका असर भी अब बिहार में दिखने लगा है। बिहार में सड़क हादसों में 31 प्रतिशत की कमी आयी है। किडनी तथा लीवर से संबंधित बीमारियों में 39 प्रतिशत की कमी आयी है। मानसिक बीमारियों में 37 प्रतिशत की कमी आयी है। यह शराबबंदी का असर है।

शराबबंदी लागू होने के बाद नशामुक्ति केंद्र भी बनाया गया। इस बीच रैपिड सर्वे भी कराया गया। 86 प्रतिशत लोगों के कार्य करने की क्षमता में बढ़ोतरी हुई है। केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय द्वारा हर साल अपराध का आंकड़ा प्रकाशित किया जाता है। आंकड़ों पर गौर करें तो शराबबंदी के बाद अपराध के आंकड़ों में काफी कमी आयी है।

बिहार में बदली है सूरत

सम्‍मेलन में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि बिहार में सूरत बदली है। सात निश्चय पर सूबे में तेजी से काम हो रहा है. बिहार के हर गांव की सड़कें पक्की होगी। हर घर नल का जल, पक्की सड़क, हर घर बिजली, हर घर शौचालय पर काम हो रहा है।

दिल्ली में बिहारियों की बढ़ी है ताकत

अपने संबोधन में नीतीश कुमार ने कहा कि दिल्ली में बिहारियों की ताकत बढ़ी है। बिहार के लोग यहां किसी के कृपा पर नहीं बल्कि अपनी मेहनत से आगे बढ़े हैं।

जदयू के पूर्व अध्यक्ष ने पार्टी को नहीं बढ़ाया आगे

सम्मेलन के दौरान पार्टी के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का नाम लिये बिना नीतीश कुमार ने कहा कि पहले जो जदयू के अध्यक्ष थे उनलोगों ने पार्टी को आगे नहीं बढ़ाया। उन्होंने ऐलान करते हुए कहा कि मार्च, 2018 में रामलीला मैदान में जदयू की रैली होगी। यह रैली ही नहीं, महारैली होगी। दिल्ली में जदयू का जनाधार बढ़ाना है।

अब दिल्‍ली में सक्रिय है जदयू

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव व दिल्ली के प्रभारी संजय झा ने बताया कि दिल्ली में जदयू अब पूरी तरह से सक्रिय है। एमसीडी चुनाव के समय लोगों को यह लग रहा था कि जदयू केवल चुनाव की वजह से दिल्ली में है पर यह मिथक अब खत्म हो चुका है। जदयू दिल्ली में प्रवासी लोग जिसमें विशेष रूप से पूर्वांचल और बिहार के लोग शामिल हैैं की लड़ाई लड़ रहा है।

दिल्ली में 1642 अनधिकृत कॉलोनियों को वैध किए जाने का वादा दिल्ली के वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित कर चुकी हैैं। ये कॉलानियों प्रवासी लोगों ने जमीन के छोटे-छोटे टुकड़ों को खरीद कर बनायी हैैं। इन कॉलोनियों का यह हाल है कि वहां पानी, बिजली और सीवरेज नहीं है। सरकार ने अभी तक इन्हें अधिकृत कॉलोनियों की सूची में शामिल नहीं किया है। इस लड़ाई को जदयू लड़ेगा।

झा ने बताया कि इसी तरह दिल्ली में अवैध शराब का धंधा चरम पर है। जदयू ने इस मसले पर भी आंदोलन की मंशा बना रखी है। उन्होंने कहा कि पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ने जदयू का दिल्ली में आधार बनाने की दिशा में कुछ भी नहीं किया जबकि दिल्ली में इसकी काफी संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here