बिहार में नये मॉडयूल पर काम कर रहे आतंकी, तीन संदिग्धों की तलाश में NIA

0
154

बिहार में आतंकी नए मॉड्यूल पर काम कर रहे हैं। एनआइए की टीम बिहार में सक्रिय तीन आतंकियों की तलाश में सिवान और छपरा के अलावा बेतिया व मोतिहारी में भी छापेमारी कर रही है।
पटना । बिहार में आतंक के नए मॉड्यूल के लिए काम कर रहे तीन युवकों की तलाश में एनआइए जुटी है। इन तीनों की शिनाख्त का काम पूरा हो चुका है और इनकी तलाश में उत्तर बिहार के सात जिलों में छापेमारी की जा रही है।

बताया जाता है कि लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े ये तीनों युवक भी अब्दुल नईम शेख की तरह महाराष्ट्र के रहने वाले हैं और महाराष्ट्र में इनकी तलाश तेज होते ही इन्होंने उत्तर बिहार में पनाह ले ली है।

एनआइए के सूत्र बताते हैं कि इन तीनों की तलाश में बिहार के सिवान और छपरा के अलावा बेतिया व मोतिहारी में भी छापेमारी की जा रही है। इन तीनों के नेपाल भागने की संभावना व्यक्त की गई है। हालांकि एनआइए के सूत्र इन तीनों के संबंध में कुछ खास जानकारी नहीं दे रहे।

सूत्रों की मानें तो इन तीनों ने भी फर्जी कागजातों के आधार पर नेपाल से लगे उत्तर बिहार के विभिन्न जिलों से अपना आधार कार्ड, पैनकार्ड, बैंक खाते और यहां तक कि पासपोर्ट बनवा रखा है।

बता दें कि पिछले दो महीनों के अंदर एनआइए ने बिहार से दो बड़े आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनमें पहली गिरफ्तारी गया के डोभी से तौफीक अहमद उर्फ तौकीर की हुई थी। तौफीक मूलरूप से गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला है। जबकि वर्ष 2009 में अहमदाबाद सीरियल ब्लास्ट के बाद वह गया में अपना नाम और पता बदलकर रह रहा था।

इसी तरह, विगत 28 नवंबर को एनआइए की टीम ने अब्दुल नईम शेख को उत्तर प्रदेश के वाराणसी से गिरफ्तार किया था। साथ ही नईम को गोपालगंज में पनाह देने वाले एनएसयूआइ के पूर्व जिला सचिव धन्नु राजा उर्फ बेदार बख्त को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

के सूत्र बताते हैं कि महाराष्ट्र के रहने वाले जिन तीन युवकों को बिहार के विभिन्न जिलों में पनाह देने वालों की पहचान कर ली गई है। लेकिन एनआइए की टीम पहले उन तीनों संदिग्धों को दबोचने की तैयारी में है।

संदिग्धों की तलाश में सिवान पहुंची एनआइए

इस बीच गोपालगंज में धन्नु राजा की गिरफ्तारी और अब्दुल नईम खान उर्फ सोहेल से तार जुडऩे के बाद एनआइए की टीम सिवान पहुंची है। एनआइए को जिले के छह लोगों के आतंकियों से जुड़ाव के इनपुट मिले हैं।

पुलिस के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि एनआइए की टीम ने अभी सिवान से किसी को गिरफ्तार नहीं किया है, लेकिन उसके निशाने पर आधा दर्जन संदिग्ध लोग हैं। सभी अलग-अलग इलाकों के हैं। इनमें सिवान शहर के भी दो लोग हैं। सभी के यहां टीम गई, लेकिन कोई नहीं मिला। परिजनों को उनसे संपर्क होते ही इत्तिला करने को कहा गया है। हालांकि अभी इनमें कुछ खाड़ी देशों में काम कर रहे हैं।

लश्कर आतंकी नईम उर्फ सोहेल छह माह पहले जिस होटल में कई दिनों तक रुका और टीम के आने के पहले वहां से भागा, उसके मालिक से भी पूछताछ की गई। एनआइए ने कुछ अन्य होटलों के रजिस्टर भी खंगाले। एएसपी कार्तिकेय शर्मा के अनुसार एनआइए टीम शुक्रवार को आई थी और कुछ स्थानों पर जांच कर चली गई।

By Kajal Kumari

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here