सुसाइड लेटर में लिखा- मेरी मौत से मेरी बहन को खुशी है तो इससे अच्‍छा क्‍या होगा

0
492

पेड़ से रस्सी के सहारे लटकी एक एक शव मिलने के बाद पुलिस इसकी गुत्थी सुलझाने में लगी है। यह हत्या है या आत्महत्या इसके पीछे किया राज है तमाम पहलुओं पर पुलिस पड़ताल कर रही है।
शेखपुरा । बिहार के शेखपुरा जिले के डीहकुसुम्भा-घाटकुसुम्भा सड़क किनारे पेड़ से रस्सी के सहारे लटकी एक एक शव मिलने के बाद पुलिस इसकी गुत्थी सुलझाने में लगी है। दरअसल यह हत्या है या आत्महत्या इसके पीछे किया राज है तमाम पहलुओं पर पुलिस पड़ताल कर रही है। मृतक के जेब से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने लिखा है कि यदि मेरी मौत से बहन को खुशी है, तो इससे अच्‍छा क्‍या होगा?

बता दें कि डीहकुसुम्भा व घाटकुसुम्भा के बीच मुख्य सड़क किनारे टाटी नदी के तट पर पीपल के पेड़ में एक शव मिलने से पूरे क्षेत्र में खलबली मच गई। यह शव डीहकुसुम्भा निवासी 38 वर्षीय संतोष महतो की है।मृतक संतोष के पैकेट में मोबाइल, बैंक पासबुक, सुसाइट नोट, एवं एक वॉटर बोतल भी मिली है।

सुसाइट नोट को देखते हुए प्रथम दृष्टया तो पुलिस भी आत्महत्या का मामला मांन रही है। पर इसके अलावा विभिन्न एंगिल से भी जांच करने की भी बात पुलिस ने कही है। जबकि सुसाइट नोट में मृतक संतोष ने अपने ही पिता रामचंद्र महतो, माता बिंदेश्वरी देवी, बहन कंचन देवी एवं बहनोई अशोक कुमार के ऊपर प्रताडऩा का आरोप की बात लिखी है।

मृतक का पत्नी करुणा कुमारी ने भी अपने सास-ससुर के द्वारा हत्या करने की बात कह रही है। जबकि मृतक का पिता रामचंद्र महतो एवं माता ङ्क्षबदेश्वरी देवी ने बताया कि बेटा व पुतहु को कल शुक्रवार को ही विदा किए। पुतहु अपने मायके चली गई साथ मे बेटा भी गया था जिसके बाद आज उसका शव मिली।

इधर डीहकुसुम्भा के ग्रामीण बताते हैं कि यह आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या का मामला प्रतीत होता है क्योंकि मृतक के सर के ऊपर कैप है अगर आत्महत्या रहता तो कैप सर के ऊपर से गिर गया होता। कोरमा थाना ध्यक्ष रामशरण पासवान व एसडीपीओ अमितशरण ने भी प्रथम दृष्टया आत्म हत्या का मामला बताया है।

मृतक संतोष के पिता ने बताया कि संतोष सऊदिया में रहता था और एक साल पहले गांव आया तब उसकी शादी उसके इक्छा के अनुसार घाटकुसुमभा में रीति रिवाज के साथ कराई गई। जिसके बाद अमृतसर काम करने चला गया। वहां से एक माह पहले आया था। पर ससुराल में पत्नी से नोकझोंक होता रहता था।

मृतक के पिता ने बताया कि उनका पुतहु करुणा कुमारी कौशल विकास योजना के तहत कम्प्यूटर सीखने रोजाना घाटकुसुम्भा जाती थी/ शुक्रवार को भी गई थी। साथ में उनका बेटा भी उसके साथ गया और ससुराल में ही रह गया था। पुलिस ने बताया कि अनुसंधान व पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही इस मामले का खुलासा हो पाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here