हाफिज सईद के जमात-उद-दावा संग मिलकर काम कर रहे पाक और दुबई के रोहिंग्या नेता

0
160

भारती जैन, नई दिल्ली दुबई और पाकिस्तान में स्थित रोहिंग्या नेताओं ने आतंकी लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े जमात-उद-दावा को अपना समर्थन देने की बात कही है। इन नेताओं ने पाकिस्तान और भारत समेत कई देशों में बसे रोहिंग्या शरणार्थियों की मदद के मकसद से जमात को अपना समर्थन दिया है। हालिया खुफिया रिपोर्ट्स में यह बात कही गई है। कई रिपोर्ट्स में यह बात सामने आ चुकी है कि जमात-उद-दावा से जुड़ा संगठन फलाह-ए-इनसानियत कथित रूप से रोहिंग्या शरणार्थियों की सहायता सामग्री के लिए पूरे पाकिस्तान से चंदा वसूल रहा है। मुंबई हमले का मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद जमात-उद-दावा का मुखिया है।सारे रॉहिंगया को वहीं भेज दो जहाँ इनके नेतागण सम्बंध रखते हैं, भारत से बाहर् करो.रोहिंग्या मुद्दा: दशकों से शरणार्थियों को शरण देता आ रहा भारत रोहिंग्या फेडरेशन ऑफ अराकान नाम के संगठन के प्रेजिडेंट फिरदौस शेख ने पिछले महीने ही पाकिस्तान का दौरा किया था और रोहिंग्या मुस्लिमों के समर्थन में आयोजित एक सेमिनार में हिस्सा लिया था। इस मीटिंग के दौरान शेख ने जमात-उद-दावा के कराची स्थित अमीर नवीद कमर से मुलाकात की थी। उनके साथ पाकिस्तान स्थित रोहिंग्या संगठन और बर्मीज मुस्लिम वेलफेयर ऑर्गनाइजेशन के प्रेजिडेंट्स के साथ मुलाकात की थी। फर्जी पहचान पत्रों से ‘भारतीय’ बने रोहिंग्या नवीद ने शेख को बताया था कि बांग्लादेश और इंडोनेशिया में सक्रिय फलाह-ए-इनसानियत फाउंडेशन की दो यूनिट रोहिंग्या शरणार्थियों को राहत सामग्री और चिकित्सा सुविधाएं मुहैया कराने के काम में जुटी हैं। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में रोहिंग्या मसले को उठाए जाने को लेकर सुरक्षा एजेंसियां सतर्क हैं। इसकी बड़ी वजह यह भी है कि करीब 9,000 रोहिंग्या जम्मू में भी रह रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here