CJI ने कहा था- चिल्लाने वाले सीनियर वकील बनने लायक नहीं, इसे अपमान बता धवन ने छोड़ी वकालत

0
215

नई दिल्ली.सुप्रीम कोर्ट के सीनियर एडवोकेट और कॉन्स्टीट्यूशन स्पेशलिस्ट राजीव धवन ने वकालत का पेशा छोड़ दिया है। चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा पर भरी कोर्ट में अपमानित करने का आरोप लगाते हुए सोमवार को उन्होंने यह घोषणा की। दरअसल, अयोध्या विवाद और दिल्ली सरकार के अधिकारों पर सुनवाई का हवाला देकर चीफ जस्टिस ने 7 दिसंबर को कहा था कि कोर्ट में चिल्लाने वाले सीनियर एडवोकेट बनने लायक नहीं हैं।

धवन ने क्या लिखा लेटर में?
– धवन ने चीफ जस्टिस को भेजे लेटर में लिखा, ‘दिल्ली सरकार के केस की सुनवाई के आखिरी में जिस तरह मेरा अपमान किया गया, उसे देखते हुए मैं वकालत छोड़ रहा हूं।’
SC से लाइब्रेरी हटा लूंगा, घर भी बेच दूंगा: राजीव
– सीनियर एडवोकेट राजीव धवन ने कहा- कोर्ट में मेरा बुरी तरह अपमान हुआ। इस अपमानजनक टिप्पणी को लेकर पूरा कोर्ट मुझ पर हंस रहा था।
– चीफ जस्टिस की टिप्पणी से मैं बहुत आहत हूं। अब कहीं भी प्रैक्टिस नहीं करूंगा। आगे क्या करूंगा, यह अभी तय नहीं किया है। नहीं जानता कि वक्त कैसे बिताउंगा। लेकिन इतना जरूर है कि अपनी पर्सनल लाइब्रेरी को सुप्रीम कोर्ट से हटा लूंगा। अपना घर भी बेच दूंगा। मैं यहां रहूंगा ही नहीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here