न्यूयॉर्क: ‘ISIS से प्रेरित था धमाके का आरोपी बांग्लादेशी नागरिक अकायद उल्ला’

0
342

न्यूयॉर्क: न्यूयॉर्क पुलिस ने एक मेट्रो स्टेशन में घर में बनाए गए बम से विस्फोट के आरोपी बांग्लादेशी नागरिक अकायद उल्ला के खिलाफ आतंकवाद के समर्थन के इल्जाम में मामला दर्ज किया है. इस घटना में आरोपी सहित चार लोग जख्मी हो गए थे. 27 साल के अकायद के बारे में पुलिस का कहना है कि वे आतंकवादी संगठन ISIS से प्रेरित है.

संदिग्ध बम हमलावर अकायद के शरीर में तार और एक पाइप बम लगा हुआ था. अमेरिका के सबसे बड़े बस टर्मिनल पोर्ट अथॉरिटी के पास दो सब-वे प्लैटफॉर्मों के बीच विस्फोट हुआ था जिसमें अकायद और तीन और लोग जख्मी हो गए थे.

न्यूयॉर्क पुलिस डिपार्टमेंट ने ट्वीट किया कि अकायद पर आपराधिक रूप से एक हथियार रखने, आतंकवाद का समर्थन करने और ‘आतंकवादी धमकी’ देने के आरोप हैं. बताया जा रहा है कि धमाके में बुरी तरह जख्मी अकायद अस्पताल में गंभीर स्थिति में है. तीन और लोग इस धमाके में जख्मी हुए थे.

धमाके के बाद अकायद को हिरासत में ले लिया गया था. ख़बरों में बताया गया कि अकायद ने बम बनाने के लिए पाइप, कील, नौ वोल्ट की एक बैटरी और क्रिसमस लाइटों का इस्तेमाल किया था . फिर उसे अपने शरीर में लगा लिया था.

अकायद के ब्रूकलिन स्थित घर की तलाशी ली जा रही है. पुलिस ने बताया कि आरोपी ने अकेले ही धमाके को अंजाम दिया. उन्होंने बताया कि विस्फोट सीसीटीवी वीडियो में रिकॉर्ड हो गया था.

एक अधिकारी ने बताया कि जांच अधिकारियों को दिए बयान में अकायद ने संकेत दिया कि वह मरने के लिए तैयार था. सूत्र ने यह भी कहा कि सब-वे में अपनी गतिविधियों के दौरान उसने बम अपने शरीर से लगा रखा था.

जांच से जुड़े एक अधिकारी ने अमेरिकी टीवी चैनल सीएनएन को बताया कि उसने ISIS के प्रति वफादारी जताई है और कहा कि उसने गजा में इस्राइली कार्रवाई के जवाब में यह कदम उठाया.

अब तक किसी संगठन ने विस्फोट की जिम्मेदारी नहीं ली है. हालांकि, इसे आतंकवाद से जुड़ी घटना के तौर पर ही लिया जा रहा है. खुफिया और आतंकवाद निरोधक मामलों के लिए न्यूयॉर्क पुलिस विभाग के उपायुक्त जॉन मिलर ने कहा कि अकायद एफबीआई की नजर में नहीं था.

मिलर ने सुबह सीबीएस को बताया, ‘‘यह शख्स बांग्लादेश से आया था, यहां रह रहा था, कई नौकरियां की, इसके किसी आर्थिक तंगी या किसी दबाव में होने की जानकारी नहीं है. वे न्यूयॉर्क पुलिस विभाग या एफबीआई की नजर में भी नहीं था. वे उसी चरित्र का है जो हम दुनिया भर में देख रहे हैं. यानी जो अचानक से कहीं से सामने आ जाता है.’’

उन्होंने कहा कि किसी अकेले शख्स की ओर से ऐसी वारदातों को अंजाम देने पर लगाम लगा पाना मुश्किल है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.